आरबीआई एमपीसी बैठक और ऑटो सेल्स आंकड़ें तय करेंगे बाजार की दिशा

  • अगले सप्ताह होने वाली है भारतीय रिजर्व बैंक की एमपीसी की बैठक
  • ऑटो सेल्स के आंकड़े, कोरोना वायरस के मामलों पर भी रहेगी नजर

By: Saurabh Sharma

Published: 29 Nov 2020, 01:57 PM IST

नई दिल्ली। बीते सप्ताह निवेशकों का रूझान कमोबेश सकारात्मक रहा, जिससे घरेलू शेयर बाजार में साप्ताहिक बढ़त दर्ज की गई। निवेशक अगले सप्ताह बाजार में निवेश करने से पहले भारतीय रिजर्व बैंक की बैठक के नतीजे, वाहन बिक्री के आंकड़ों, कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दैनिक मामलों और कोरोना वैक्सीन से जुड़ी खबरों पर नजर बनाए रखेंगे।

यह भी पढ़ेंः- शेयर बाजार में विदेशी निवेशकों का रिकॉर्ड निवेश, सामने आए चौकाने वाले आंकड़े

इन बातों पर रहेगी निवेशकों की नजर
बाजार विश्लेषकों की मानें तो विदेशी संस्थागत निवेशकों के रुझान, कच्चे तेल की कीमतें, रुपए की चाल और शुक्रवार को जारी आर्थिक आंकड़ों का असर भी शेयर बाजार पर दिखेगा। अगले सप्ताह सोमवार को गुरुनानक जयंती के अवसर पर शेयर बाजार में कारोबार बंद रहेगा इसलिए मंगलवार से बाजार में सामान्य कारोबार शुरु होना है। अगले सप्ताह आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की तीन दिवसीय बैठक होनी है, जिसकेपरिणाम चार दिसंबर को सामने आयेंगे।अगले सप्ताह 30 नवंबर से एक दिसंबर तक तेल निर्यातक देशों के संगठन ओपेक की बैठक होनी है, जिसका प्रभाव शेयर बाजार पर रहेगा।

यह भी पढ़ेंः- सोने में मंदी का संकेत नहीं है कीमत में गिरावट, फिर मिला है निवेश का सुनहरा मौका

ऐसा रहा था बीता सप्ताह
बीते सप्ताह शेयर बाजार में साप्ताहिक बढ़त दर्ज की गई और इस दौरान बीएसई का सेंसेक्स 267.47 अंक यानी 0.61 फीसदी की साप्ताहिक बढ़त के साथ 44,149.72 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 109.90 अंक यानी 0.85 प्रतिशत उछलकर 12,968.95 अंक पर पहुंच गया। समीक्षाधीन अवधि में दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा मंझोली और छोटी कंपनियों को अधिक लाभ हुआ। निवेशकों ने पूरे सप्ताह के दौरान छोटी और मंझोली कंपनियों में जमकर पैसा लगाया जिससे बीएसई का मिडकैप 478.15 अंक यानी 2.91 प्रतिशत बढ़कर 16,914.65 अंक पर पहुंच गया। स्मॉलकैप भी 692.60 अंक यानी 4.28 प्रतिशत की तेजी के साथ 16,875.15 अंक पर पहुंच गया।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned