बड़ी खबर: बसपा एमएलसी की बेटी का अपहरण, गिरफ्तार महिलाओं ने किया चौंकाने वाला खुलासा

बड़ी खबर: बसपा एमएलसी की बेटी का अपहरण, गिरफ्तार महिलाओं ने किया चौंकाने वाला खुलासा

lokesh verma | Publish: Mar, 14 2018 09:15:24 AM (IST) Meerut, Uttar Pradesh, India

आरोपी महिलाओं ने थाने में कहा- अपनी मर्जी से गईएमएलसी की बेटी

मेरठ. बसपा के एमएलसी अतर सिंह राव की बेटी के बीते दस मार्च से लापता हो गई है। बसपा के एमएलसी अतर सिंह राव की बेटी के अपहरण का सनसनीखेज मामला सामने आया है, जिससे पुलिस विभाग में हड़कंप मचा हुआ है। बसपा एमएलसी ने अपहरण का आरोप लगाते हुए दस लोगों के खिलाफ संबंधित थाने में मुकदमा पंजीकृत कराया है। थाना सिविल लाइंस में नामजद दर्ज मुकदमे में तीन आरोपी महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। पकड़ी गई आरोपी महिलाओं ने थाने में कहा कि एमएलसी की बेटी अपनी मर्जी से गई है।

यह भी पढ़ें- जहरीली शराब पीने से चार लोगों की मौत, एक की हालत नाजुक, देखें वीडियो-

इंस्पेक्टर सिविल लाइंस नीरज मलिक के मुताबिक बसपा एमएलसी अतर सिंह राव ने तहरीर दी, जिसमें उन्होंने बताया कि उसकी बेटी का अपहरण कर लिया गया है। अपहरण के मामले में उन्होंने अपने मोहल्ले के शिवम, उसके दोस्त व परिवार के सदस्यों समेत दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है। बसपा एमएलसी के मुताबिक अपहरण की घटना 10 मार्च की है। दर्ज करवाए गए मुकदमे पर पुलिस ने एक्शन लेते हुए आरोपी शिवम की मां सुनीता और उसकी दो बहनों शिवांकी व सकेता को गिरफ्तार कर लिया है। शेष अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। वहीं अभियुक्त पक्ष के लोगों का कहना है कि अतर सिंह राव की बेटी बालिग है। उसका शिवम से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिसका अतर सिंह राव का परिवार विरोध करता था। अब वे दोनों अपनी मर्जी से गए हैं। अपहरण का आरोप झूठा लगाया गया है। उनका आरोप है कि बसपा एमएलसी अतर सिंह के दबाव में पुलिस ने उनके परिवार की महिलाओं को उसी दिन उठा लिया था और उन्हें थाने में थर्ड डिग्री दी गई। हालांकि पुलिस इन आरोपों का खंडन कर रही है।

यह भी पढ़ें- शगुन के लिफाफे में निकला कुछ ऐसा कि व्यापारी की जिंदगी में आ गया भूचाल, देखें वीडियो-

बसपा के एमएलसी अतर सिंह राव का कहना है कि उनकी बेटी बीती 10 मार्च को दुकान से सामान खरीदने गई थी। उसी दौरान शिवम व उसके साथ के अन्य लोगों ने उनकी बेटी का अपहरण किया है। इस मामले में शिवम के साथ उसके अन्य साथियों ने इस काम में उनकी मदद की है। आरोप है कि उनके परिवार की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने के लिए कुछ लोग षड़यंत्र कर रहे हैं। इस बारे में जब बसपा एमएलसी से बात करने की कोशिश की गई तो उनका मोबाइल स्विच आॅफ आ रहा था।

यह भी पढ़ें- गजब: ये कंपनी देती है चोरी करने के लिए 20 हजार सेलरी

Ad Block is Banned