नशे में धुत्त चौकी इंचार्ज ने तोडा वकील का हाथ, अल्टीमेटम के बाद एसएसपी ने किया निलंबित

Highlights:

-वकीलों में आया उबाल,बार ने लिखा एसएसपी को पत्र
-एसएसपी ने देर रात एक्शन लेते हुए दारोगा को किया निलंबित
-बार एसोसिएशन ने दिया था पुलिस—प्रशासन को अल्टीमेटम

By: Rahul Chauhan

Updated: 01 Aug 2020, 01:02 PM IST

मेरठ। नशे में धुत्त एक चौकी इंचार्ज और दीवान ने वकील को चौकी पर लाकर थर्ड डिग्री दी और उसका हाथ तोड़ दिया। इतना ही नहीं चौकी इंचार्ज न वकील को रात भर चौकी में बंद कर रखा। सुबह जब मामले की जानकारी एसओ को हुई तो उन्होंने वकील को चौकी इंचार्ज के कब्जे से मुक्त कराया। वकील के साथ हुई इस घटना से मेरठ के वकीलों में उबाल है।

बार एसोसिएशन ने इस मामले में एसएसपी को पत्र लिखकर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। बार एसोसिएशन ने अल्टीमेटम दिया है कि अगर 24 घंटे के भीतर एसएसपी ने कोई एक्शन नहीं लिया तो उसके जिम्मेदार एसएसपी खुद होंगे। देर रात एसएसपी ने एक्शन लेते हुए दारोगा को निलंबित कर दिया। घटना थाना कंकरखेड़ा क्षेत्र की है। जहां निवासी एक एडवोकेट ने चौकी इंचार्ज पर पिटाई करने का आरोप लगाया है। आरोप है कि पिटाई से एडवोकेट के हाथ में फ्रैक्चर हो गया है। खरखौदा थाना अंतगर्त मुरलीपुर निवासी एडवोकेट गफफार खान ने अघ्यक्ष, मेरठ बार एसोसिएशन को लिखे अपने पत्र में बताया है कि देर रात चौकी इंचार्ज जितेन्द्र कुमार सिंह और दीवान सुभाष उनक पङोसी इमरान के घर नशे में पहुंचे थे।

इमरान के घर पर न मिलने पर वे उसके नाबालिग बेटे को साथ ले जाने लगे। इसका गफ्फार ने विरोध किया। गफ्फार का आरोप है कि इस पर पुलिस वालों ने उसकी पिटाई की और अपने साथ चौकी ले गये। आरोप है कि चौकी पर दुबारा पिटाई की। मामला एसओ की संज्ञान में आने पर शुक्रवार तङके उसे छोङ दिया गया। गफ्फार का आरोप है कि पिटाई के कारण उसकी हाथ में फ्रेक्चर आ गया है। मेरठ बार एसेसिएशन के महामंत्री नरेश दत्त शर्मा ने बताया कि एसएसपी को पत्र लिख कर इस मामले में आरोपी पुलिसकर्मियों के विरूद्ध तत्काल कार्रवाई किए जाने की मांग की है। एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि जांच करने के बाद आरोपी दारोगा को निलंबित कर दिया गया है।

Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned