डीजीपी ने थानेदारों को लेकर कही बड़ी बात, इसका मतलब भी समझाया

जनता से बेहतर संबंध बनाने का दिया मंत्र, बदमाशों की दिनदहाड़े गोलियों पर डीजीपी दिखे गंभीर

By: sanjay sharma

Published: 10 Feb 2018, 09:26 PM IST

मेरठ। उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह शनिवार को यहां रिजर्व पुलिस लाइन पहुंचे। पुलिस अधिकारियों ने सलामी देकर स्वागत किया। इसके बाद उन्होंने पुलिस अधिकारियों के साथ पश्चिमी यूपी में बढ़ रहे अपराध पर समीक्षा मीटिंग की। डीजीपी ने कहा कि थानेदारों के थाने जल्दी-जल्दी नहीं बदलें। उनका कार्यकाल लंबे समय का होना चाहिए। बार-बार तबादले हाेने से उनकी कार्यक्षमता प्रभावित होती है। उन्होंने पुलिसकर्मियों के गलती करने पर सजा से ज्यादा उनकी जवाबदेही तय करने पर जोर दिया।

यह भी पढ़ेंः मेरठ के डबल मर्डर के पीछे की यह है कहानी, आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे!

यह भी पढ़ेंः बिजली चाेरी करने वालों की अब खैर नहीं, विजिलेंस की इतनी टीमें उतर रही मैदान में

मेरठ में नियंत्रण रखें

मेरठ जनपद में पिछले दिनों हत्यायें आैर गवाहों की हत्याआें के साथ बदमाशों द्वारा चलाई जा रही दिनदहाड़े गोलियों पर डीजीपी काफी गंभीर हैं। उन्होंने मेरठ जोन के बागपत, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, हापुड़, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर और शामली जिले के कप्तानों को अपराधों पर नियंत्रण करने के निर्देश दिए। मेरठ की पिछले दिनों हुर्इ घटनाआें पर एसएसपी मेरठ को विशेष निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ेंः आपकी कार में सीएनजी किट है, तो रखें यह ख्याल, वरना हो सकता है यह हाल!

यह भी पढ़ेंः मेरठ के इस विवादित बंगले में कार्रवार्इ करने पहुंची टीम का एेसा सदमा लगा...बाला नहीं रही!

जवाबदेही तय करें

डीजीपी ने बैठक में सड़क पर गुंडागर्दी करने वालों पर लगाम कसने और सनसनीखेज वारदातों का खुलासा करने को कहा है। उन्होंने जोन के सभी जिलों की स्थिति जानते हुए वांछित अपराधियों को भी गिरफ्तार करने के निर्देश दिए। डीजीपी ने मीटिंग के दौरान कहा कि लापरवाह पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई करने के बजाए उन्हें समझाकर समस्या का हल करने को भी कहा।

दबाव में काम न करें

डीजीपी ने कहा कि पुलिसकर्मी किसी तरह के दबाव में काम न करें। जनता के बीच जाएं और उनकी समस्याएं निस्तारित करें। इससे जनता के बीच पुलिस की छवि बेहतर होगी। उन्हाेंने पुलिस अफसरों को क्रिमिनल इंटेलिजेंस मजबूत बनाने, सनसनीखेज वारदातों का खुलासा करने, शिकायतों पर रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए।

एसएसपी नोएडा की चर्चा

बैठक के बाद इस बात को लेकर चर्चा रही कि बैठक के दौरान डीजीपी ने एसएसपी नोएडा लव कुमार के देरी से आने पर हाॅल में प्रवेश से मना कर दिया। हालांकि कुछ समय पश्चात लव कुमार भीतर बुला लिए गए। इस पर पुलिस अफसरों ने कोर्इ जानकारी होने से इनकार किया।

देखें वीडियोः सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ खाप चौधरी

देखें वीडियोः डांस से किया ट्रैफिक नियमों के प्रति जागरुक

 

 

Show More
sanjay sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned