scriptpm narendra modi said in meerut vijay sankalp rally | VIDEO: मोदी ने बताया गठबंधन को 'सराब', कहा- इससे सेहत खराब होती है, लोगों को बचना चाहिए | Patrika News

VIDEO: मोदी ने बताया गठबंधन को 'सराब', कहा- इससे सेहत खराब होती है, लोगों को बचना चाहिए

मेरठ में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'विजय संकल्प रैली'

कहा- महामिलावटी वाला गठबंधन सपा, बसपा व रालोद का

मोदी ने कहा- विपक्ष एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रहा है

 

मेरठ

Updated: March 28, 2019 11:46:23 pm

मेरठ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विजय संकल्प रैली के जरिए वेस्ट यूपी में मेरठ से चुनावी शंखनाद कर दिया है। रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने विकास की बातें की तो विपक्षी दलों को भी आड़े हाथों लिया। मोदी ने सपा, बसपा व रालोद गठबंधन को महामिलावट वाला गठबंधन कहा। उन्होंने कहा कि बसपा ने अपने शासनकाल में प्रदेश की सभी चीनी मिलों को बेच दिया था जबकि सपा ने लोगों को धर्म व जाति के आधार पर बांटा। उन्होंने सपा, रालोद व बसपा के शुरूआती अक्षरों को मिला कर 'सराब' बनाया। उन्होंने कहा कि 'सराब' से सेहत खराब होती है, इसलिए शराब से बचना है। अपने शासनकाल में कभी मायावती, अखिलेश और अजित सिंह ने किसानों व गरीब लोगों अथवा प्रदेश हित में उनसे कभी बात नहीं की। क्योंकि इनका उद्देश्य समाज व देशहित नहीं परिवार हित है। आज चरण सिंह यदि जीवित होते तो यह सब देखकर बहुत दुखी होते। कांग्रेस ने चाहे चौधरी चरण सिंह हों या छोटू राम सभी को धोखा दिया और कभी उबरने नहीं दिया। मोदी ने कहा कि जनता द्वारा दिया गया एक-एक वोट प्रत्याशियों को नहीं बल्कि उनके पास जायेगा। लिहाजा सभी प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान करें।
meerut
यह भी पढ़ेंः Modi Live: यहां के लोगों की जिन्दगी पहले भी हो सकती थी आसान, अब हम देंगे सौगात

सपूत काे ललकारते हैं

रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश की जनता को हिंदुस्तान का हीरो चाहिए या पाकिस्तान का? विपक्ष एयर स्ट्राइक के सबूत मांग रहा है, जबकि देश को सपूत चाहिए न कि सबूत। जो लोग सबूत तलाशते हैं वह देश के इस सपूत को ललकारते हैं। मोदी ने यह भी कहा कि यदि 26 फरवरी को सैनिकों से जरा सी भी चूक हो जाती तो ये लोग मुझ से इस्तीफा मांग लेते, मेरे पुतले जला देते। मुझे गालियां देते। जबकि वह देश के लिए अपना सबकुछ न्योछावार करने के लिये तैयार हैं। वह किसी के दबाव में आने वाले नहीं हैं। वह किसी तरह का बोझ लेकर नहीं चलते, चिंता तो वह करें जो परिवारवाद का बोझ लिये चल रहे हैं। उनका यह भी कहना था कि आखिर उनके पास है ही क्या, जो हैं भी वह जनता का दिया हुआ है। चिंता वह करें जिसे खोने का डर हो।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

RRB-NTPC Results: प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोले रेल मंत्री, रेलवे आपकी संपत्ति है, इसको संभालकर रखेंयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारRepublic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवाजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 7,498 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 10.59%डायबिटीज के पेशेंट्स के लिए फायदेमंद हैं ये सब्जियां, रोजाना करें इनका सेवनक्या दुर्घटना होने पर Self-driving Car जाएगी जेल या ड्राइवर को किया जाएगा Blame? कौन होगा जिम्मेदार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.