इस केंद्रीय मंत्री ने जनसंख्या नियंत्रण पर दिया जोर, कहा- इससे बनी रहेगी सामाजिक समरसता, देखें वीडियो

Sanjay Kumar Sharma | Updated: 12 Oct 2019, 10:36:31 AM (IST) Meerut, Meerut, Uttar Pradesh, India

Highlights

  • जनसंख्या नियंत्रण कानून बनवाने के लिए लाखों दिल्ली रवाना
  • कहा- अभियान में वोटों के सौदागरों को भी जोडऩा पड़ेगा
  • 13 अक्टूबर को दिल्ली के जंतर-मंतर पर पहुंचेगी पदयात्रा

 

 

 

मेरठ। जनसंख्या नियंत्रण (population control) पर कानून की मांग को लेकर जनसंख्या समाधान फाउंडेशन की 'समाधान पदयात्रा' को केंद्रीय मंत्री गिरीराज सिंह (Union Minister Giriraj Singh) ने जीरो माइल बेगमपुल से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान सांसद राजेंद्र अग्रवाल और स्वामी यतीन्द्रानन्द गिरि के साथ-साथ बड़ी संख्या में फाउंडेशन के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

यह भी पढ़ेंः Weather Alert: दशहरे के बाद हवा हुई खराब, देश के ये शहर सबसे ज्यादा प्रदूषित

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने प्रेसवार्ता में कहा कि देश में तीन तलाक कानून लाने में कई साल लग गए। अब कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने पर राजनीति हो रही है। ऐसे में जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने और उसे लागू कराने के लिए वोट बैंक के सौदागरों को भी अभियान से जोडऩा पड़ेगा। उन्होंने कहा कि चीन ने 1979 में कड़ा कानून लागू किया था और जनसंख्या नियंत्रण कर ली। भारत की आबादी भी 150 करोड़ पार करने वाली है। इसलिए अपने देश में भी जनसंख्या नियंत्रण जरूरी है और जनजागरण कार्यक्रम चलाना होगा। उन्होंने कहा कि सामाजिक समरसता बनाए रखने के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी है। यह पदयात्रा 12 अक्टूबर को गाजियाबाद व 13 अक्टूबर को जंतर- मंतर पहुंचेगी।

इसके पूर्व गुरुवार को फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिल चौधरी ने बताया कि यात्रा में 21 रथ अलग-अलग सेगमेंट में शामिल रहेंगे। जिसमें प्रत्येक सेगमेंट में कार व ट्रैक्टर सवार लगभग दस हजार लोग शामिल होंगे। प्रत्येक रथ सामाजिक बुराईयों के प्रति जागरूक करते हुए दिखाई पड़ेगा। रथ के पीछे 200 लीटर का ड्रम उपलब्ध होगा। जो स्वच्छता का संदेश देगा। पदयात्रा 12 अक्टूबर को गाजियाबाद व 13 अक्टूबर को जंतर-मंतर पर प्रधानमंत्री भारत सरकार के नाम कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद को ज्ञापन सौंपा जाएगा।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned