CBSE: बदल जाएगा 12वीं बोर्ड का प्रश्न पत्र पैटर्न, अब होगा छात्रों की क्षमता का आकलन

Highlights.

- सीबीएसई ने बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए 'पेपर पैटर्न’ बदलने की तैयारी कर ली है

- परीक्षा में 'एप्लीकेशन बेस्ड’ सवाल पूछे जाएंगे, विद्यार्थी के पढऩे, समझने, विश्लेषण करने और जवाब देने की क्षमता का आकलन होगा

- छात्रों को एक पैराग्राफ दिया जाएगा, उसे पढऩा होगा और उस पर आधारित पूछे गए सवालों का जवाब देना होगा

नई दिल्ली.

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने बारहवीं की बोर्ड परीक्षाओं के लिए 'पेपर पैटर्न’ बदलने की तैयारी कर ली है। सीबीएसई की परीक्षा में अब 'एह्रश्वलीकेशन बेस्ड’ सवाल पूछे जाएंगे। जानकारी के मुताबिक प्रश्न पत्र में छात्रों को एक पैराग्राफ दिया जाएगा। छात्रों को उसे पढऩा होगा और उसी पर आधारित पूछे गए सवालों का जवाब देना होगा।

इसके जरिए विद्यार्थी के पढऩे, समझने, विश्लेषण करने और जवाब देने की क्षमता का आकलन होगा। सीबीएसई के निदेशक अकादमिक, जोसेफ इमैनुएल ने बताया कि सीबीएसई ने इसे लेकर नए पैटर्न के सैंपल प्रश्न पत्र स्कूलों को जारी कर दिए हैं।

ऐसे होंगे बदलाव

सूत्रों की मानें तो सवालों में अब बदलाव किया जाएगा। अब तक इस तरह पूछे जाने वाले सवाल एक अंक तक ही सीमित थे, अब ये संक्षिप्त प्रश्नों या बड़े प्रश्नों में भी परिवर्तित हो सकते हैं।

ये परिवर्तन हैं संभावित

  • - बहुविकल्पीय प्रश्न अधिक होंगे
  • - इंग्लिश में करीब 50 फीसदी प्रश्न बहुविकल्पीय।
  • - मैथ्स और फीजिक्स में केस स्टडी आधारित सवाल।
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned