मोदी सरकार का बड़ा फैसला, छोटा शकील और हाफिज सईद के करीबी 18 व्यक्तिगत आतंकी घोषित

  • केंद्र सरकार ने पाकिस्तान के 18 'व्यक्तिगत आतंकवादी' के रूप में नामित किया
  • मुंबई विस्फोट, संसद, पुलवामा हमले, जम्मू-कश्मीर में सक्रिय आतंकियों की सूची
  • गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम 1967 के तहत की गई यह कार्रवाई
  • 2019 में मसूद अजहर, हाफिज सईद, दाऊद सहित चार को घोषित किया जा चुका

 

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने पाकिस्तान के 18 भगोड़े आतंकवादियों व सहयोगियों को 'व्यक्तिगत आतंकी' के रूप में नामित किया है। इनमें प्रमुख रूप से 1993 के मुंबई धमाकों, 26/11 मुंबई हमले, 2019 पुलवामा बम विस्फोट, 2016 पठानपुर पीएएफ बेस हमले, 1999 में विमान अपहरण, इंडियन मुजाहिदीन के हमलों और जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों में शामिल आतंकी हैं।

दूसरी बार जारी हुई नामित आतंकी सूची
मंगलवार को गृह मंत्रालय के अनुसार केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को सुदृढ़ करने व आतंकवाद के खिलाफ कड़े कदम की नीति के तहत 18 लोगों को नामित आतंकवादी घोषित किया है। इससे पहले केंद्र सरकार ने सितंबर 2019 में मसूद अजहर, हाफिज सईद, दाऊद इब्राहिम, जकी-उर-रहमान लखवी को 'व्यक्तिगत आतंकी' घोषित किया था।

एक साल पहले अधिनियम में संसोधन
गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम 1967 में एक साल पहले अगस्त 2019 में संशोधन किया था। जिसमें किसी व्यक्ति को आतंकी के रूप में नामित करने का प्रावधान है। इससे पहले किसी संगठन को आतंकवादी संगठन के रूप में नामित किया जा सकता था। मंगलवार को जारी सूची में ऐसे लोग जो सीमा पार से आतंकी गतिविधियों के जरिये देश को अस्थिर करने के नापाक प्रयासों में लिप्त हैं उनको शामिल किया है।

ये हैं वो खूंखार आतंकी
1. साजिद मीर : लश्कर कमांडर है, 2008 में मुंबई आतंकवादी हमले का मुख्य योजनाकारों में से एक
2. यूसुफ मुजम्मिल : 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले में आरोपी व जम्मू-कश्मीर में लश्कर का दूसरा कमांडर
3.अब्दुर रहमान मक्की : राष्ट्रीय जांच एजेंसी की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में, लश्कर-ए-तैयबा के सह-संस्थापक हाफिज सईद का बहनोई है।
4. शहीद महमूद : पाकिस्तान स्थित उप-प्रधान संगठन फलाह-ए-लानसियत फाउंडेशन (एफआइएफ) का प्रमुख है, जो लश्कर का हिस्सा है।
5. फरहतुल्लाह गोरी : हैदराबाद (2005) के टास्क फोर्स कार्यालय, अक्षरधाम मंदिर (2002) पर हमले में शामिल रहा है।
6. अब्दुल रऊफ असगर : 2001 में संसद पर हमले के लिए आतंकी प्रशिक्षण व प्रमुख साजिशकर्ता है।
7. इब्राहिम अतहर : 1999 के कंधार अपहरण में शामिल और 2001 के संसद हमले में साजिशकर्ता है।
8. यूसुफ अजहर : 1999 के कंधार अपहरण में शामिल, पाकिस्तान स्थित आतंकवादी है ।
9. शाहिद लतीफ (छोटा शाहिद) : जैश-ए-मोहम्मद का कमांडर। भारत में आतंकवादियों को लॉन्च करने का आरोपी।
10. सैय्यद मोहम्मद यूसुफ शाह : सैयद सलाहुद्दीन के नाम से प्रसिद्ध,सबसे खतरनाक आतंकी। आतंकी संगठन हिज्ब-उल-मुजाहिदीन का सर्वोच्च कमांडर। यूनाइटेड जिहाद काउंसिल का अध्यक्ष है। आतंकवादी गतिविधियों के लिए देश में धन उगाही करता है।
11. गुलाम नबी खान : पाकिस्तान स्थित गुलाम नबी खान हिजबुल मुजाहिदीन का दूसरा सबसे बड़ा आतंकी है।
12. जफर हुसैन भट : कश्मीर घाटी में गुर्गों के लिए धन भेजना, हिजबुल मुजाहिदीन का उप प्रमुख है, वित्तीय मामलों को संभालता है।
13. रियाज इस्माइल शाहबंदरी : आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन का संस्थापक सदस्य, भारत में 2010 में जर्मन बेकरी, 2010 में चिन्नास्वामी स्टेडियम, 2010 जामा मस्जिद, 2010 शीतलाघाट और मुंबई में बम विस्फोट में शामिल।
14. मोहम्मद इकबाल : इकबाल भटकल के नाम से प्रसिद्ध, 2008 में जयपुर के सीरियल ब्लास्ट, 2008 में दिल्ली सीरियल ब्लास्ट, अहमदाबाद और सूरत के सीरियल ब्लास्ट, 2010 में पुणे में जर्मन बेकरी व बेंगलुरु विस्फोट सहित कई आतंकी हमलों में शामिल।
15. शेख शकील : छोटा शकील के नाम से प्रसिद्ध। दाऊद की डी-कंपनी के अंडरवल्र्ड ऑपरेशनों की देखभाल, गुर्गों को वित्तपोषित करता था। आग्नेयास्त्रों की तस्करी में भी शामिल।
16.मो. अनीस शेख : 1993 में बॉम्बे बम ब्लास्ट केस, हथियार, बारूद की आपूर्ति के लिए जिम्मेदार।
17. ब्राहिम मेमन : टाइगर मेमन के नाम से प्रसिद्ध, 1993 में बॉम्बे बम ब्लास्ट केस की आपराधिक साजिश रची।
18. जावेद चिकना : दाऊद दर्जी के नाम से प्रसिद्ध, दाऊद इब्राहिम का प्रमुख सहयोगी, 1993 के बॉम्बे बम ब्लास्ट में शामिल।

 

Show More
Ramesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned