Corona, Amphan के बाद भारत पर एक और बड़ा संकट, पाकिस्तान से आए टिड्डियां का कहर शुरू

  • Corona, Amphan के बाद भारत में Locust कहर
  • कई राज्यों में जारी किया गया अलर्ट ( Alert )
  • पाकिस्तान ( Pakistan ) से तबाही मचाने आया टिड्डियां

नई दिल्ली। एक तरफ पूरा देश कोरोना वायरस ( coronavirus ) संकट से जूझ रहा है। आलम ये है कि इस महामारी के कारण चारो तरफ हाहाकार मचा हुआ है और देश में लॉकडाउन ( Lockdown ) लागू है। इधर, दो दिन पहले चक्रवाती तूफान अम्फान ( Amphan Cyclone ) के कारण पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) और ओडिशा ( odisha ) में भारी तबाही मची है। वहीं, अब पाकिस्तान ( Pakistan ) से आए टिड्डियां ( Locust ) ने भारत ( Locust in india ) में कहर बरपाना शुरू कर दिया है।

कई राज्यों में टिड्डियों की दस्तक

जानकारी के मुताबिक, पाकिस्तान से राजस्थान में घुसीं टिड्डियों ने अब दूसरे राज्यों में कहर बरपाना शुरू कर दिया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि यह टिड्डियां रास्ते के सभी पसलों को बर्बाद करते हुए देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( Delhi ) पहुंचने वाली है और उसका अगला निशाना हरियाणा ( Haryana ), मध्य प्रदेश ( Madhya Pradesh ), पंजाब ( Punjab ) और यूपी ( Uttar Pradesh ) है।

तेजी से बढ़ रहा है खतरा

रिपोर्ट में कहा गया है कि आंधी के कारण हवा की रुख जिस ओर रहती है, ये टिड्डियां उसी ओर बढ़ती है। पिछले दिनों भारत में भी कई जगहों पर आंधियां आई थी और उसमें एक दिन में इन टिड्डियों ने 200 किलोमीटर का सफर तय कर लिया। आलम ये है कि कई खतों की फसलें इसके कारण बर्बाद हो चुका है। पर्यावरण मंत्रालय का कहना है कि टिड्डियों से फसलों और सब्जियों को काफी नुकसान पहुंचता है।

कई राज्यों में अलर्ट

इधर, टिड्डियों के कहर को देखते हुए मंत्रालय ने सभी राज्यों को अलर्ट कर दिया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि राजस्थान में जैसलमेर, बाड़मेर, श्रीगंगानगर, जोधपुर के बाद टिड्डियों का झुंड अब दौसा, सवाईमाधोपुर, करौली और धौलपुर तक पहुंच गया है। वहीं, विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि एक बार यह जहां पहुंच जाता है उस इलाके में तीन साल तक इसका असर रहता है। क्योंकि, पिछले साल टिड्डियों की वजह से राजस्थान में 1000 करोड़ का नुकसान हुआ था। यूपी के कई जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। बताया गया है कि इस बार पिछले साल की तुलना में पहले ही टिड्डियों का आगमन हो चुका है। अब तक टिड्डियों की दल राजस्थान के बाद हरियाणा, पंजाब और मध्य प्रदेश में प्रवेश कर चुका है। वैसे आम तौर पर टिड्डियों का आगमन जून महीने में होता था।

coronavirus Coronavirus in india COVID-19
Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned