चिराग ने दिए चुनाव के संकेत, कहा- बिहार में गिरने वाली है नीतीश कुमार की सरकार

Highlights.

- चिराग पासवान ने दावा किया है कि बिहार में नीतीश कुमार की सरकार जल्द ही गिरने वाली है
- उन्होंने एक मीटिंग की, जिसमें सभी विधानसभा के प्रत्याशी, पूर्व एवं वर्तमान सांसद और विधायक शामिल हुए
- पार्टी सूत्रों के अनुसार, मीटिंग में विधानसभा चुनाव में हुई हार और पार्टी से टूटकर दूसरे दलों में जा रहे नेताओं पर चर्चा अधिक हुई

 

नई दिल्ली।

लोकजनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने दावा किया है कि बिहार में नीतीश कुमार की सरकार जल्द ही गिरने वाली है। उन्होंने पार्टी की एक मीटिंग भी की है। इसमें सभी विधानसभा के प्रत्याशियों, पूर्व एवं वर्तमान सांसद और विधायक शामिल हुए। इसके अलावा मीटिंग में पार्टी के सभी पदाधिकारी भी शामिल हुए।

चिराग ने दावा करते हुए कहा कि नीतीश कुमार की सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाएगी। हमें अगले गठबंधन की चिंता नहीं। इसकी चिंता को उन लोगों को करनी चाहिए, जो हमारी वजह से चुनाव हार जाते हैं। हालांकि, मीटिंग में शामिल रहे एलजीपी के कुछ नेताओं का कहना है कि चिराग पासवान ने यह मीटिंग बीते बिहार विधानसभा चुनाव में हुई हार और पार्टी से टूटकर दूसरे दलों में जा रहे नेताओं को लेकर चर्चा अधिक हुई। हां, यह बात अलग है कि मीटिंग में चिराग ने हर चीज का ठीकरा नीतीश कुमार पर ही फोड़ा और इस तरह नीतीश कुमार एलजीपी की पूरी मीटिंग में छाए रहे।

बहरहाल, मीटिंग के बाद चिराग पासवान ने कहा कि राज्य में नीतीश कुमार की सरकार ज्यादा दिनों तक नहीं चल सकेगी। वहीं मीटिंग के दौरान चिराग ने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं से संगठन को मजबूत करने तथा अगले चुनाव की तैयारी में अभी से जुट जाने को कहा। चिराग ने पार्टी के नेताओं से कहा कि हमें अगले चुनावों में किससे गठबंधन करना है और किससे नहीं, इसकी चिंता करने की जरूरत नहीं। इसकी चिंता तो उन लोगों को करनी चाहिए, जो हमारी वजह से चुनाव हार जाते हैं।

चिराग पासवान ने पार्टी नेताओं को स्पष्ट संकेत दे दिया है कि बिहार विधानसभा चुनाव में हुई हार से घबराना नही है और न ही अपना मनोबल गिराना है। उन्होंने लोगों में जोश भरते हुए एकजुट रहने की सलाह भी दी।

Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned