उम्मीद: ब्रिटेन, जर्मनी और स्पेन में इसी माह, जबकि अमरीका में 11 दिसंबर से लगाए जाएंगे कोरोना के टीके

Highlights.

- ब्रिटेन, जर्मनी और स्पेन में इसी महीने से टीकाकरण शुरू हो जाएगा

- कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर दिल्ली, असम, महाराष्ट्र, गुजरात को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई

- सवाल यह कि भारत के लिए कब तक, कौन सा टीका उपलब्ध होगा

नई दिल्ली।

अमरीका में कोरोना वैक्सीन कार्यक्रम के प्रमुख मोन्सफे सलौई ने कहा है कि देश में 11 दिसबंर को कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन लगाई जा सकती है। 10 दिसंबर को एफडीए वैक्सीन सलाहकार समिति की बैठक में फैसला होगा।

इसी महीने से ही ब्रिटेन, जर्मनी और स्पेन में भी टीकाकरण शुरू हो जाएगा। सवाल यह है कि भारत के लिए कब तक यह टीका उपलब्ध होगा। कौन सा टीका भारत के लिए सबसे उपयुक्त होगा। साथ ही भारत में विकसित हो रहे टीके की क्या स्थिति है।


कई राज्यों को फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर दिल्ली, असम, महाराष्ट्र, गुजरात को फटकार लगाई है। कोर्ट ने इन राज्यों की सरकार से कोरोना संक्रमण को रोकने की दिशा में उठाए गए अब तक के कदमों की स्टेटस रिपोर्ट 48 घंटे के अंदर दाखिल करने को कहा है। बाकी राज्यों को भी स्टेटस रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा गया है। जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस आर. सुभाष रेड्डी और जस्टिस एमआर शाह की पीठ के समक्ष दिल्ली सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि अस्पतालों में बेड बढ़ाने के अलावा अन्य कई इंतजाम किए गए हैं। पीठ ने कहा है सरकार बताए कि उसने क्या काम किए। जस्टिस शाह ने शादियों को लेकर गुजरात सरकार की नीति पर भी सवाल उठाया।

महाराष्ट्र: बिना नेगेटिव रिपोर्ट एंट्री नहीं

महाराष्ट्र दिल्ली, राजस्थान, गोवा और गुजरात से आने वालों के लिए कोरोना की नेगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य कर दी है। इसके बिना प्रवेश नहीं मिलेगा।

हिमाचल: नाइट कर्फ्यू

4 जिलों मंडी, शिमला, कुल्लू और कांगड़ा में नाइट कर्फ्यू। स्कूल- कॉलेज 31 दिसंबर तक बंद रहेंगे। 50 प्रतिशत सरकारी कर्मचारियों को ही ऑफिस बुलाने के निर्देश।

गुजरात: बंद रहेंगे स्कूल

गुजरात में स्कूलों को 30 नवंबर तक, दिल्ली और कर्नाटक में 31 दिसंबर तक बंद रखने का फैसला।

Corona virus COVID-19
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned