Delhi Metro Guidelines : अब प्लेटफॉर्म में 7 मिनट बाद आया करेगी मेट्रो, जानें 7 सितंबर से सफर के लिए क्या होंगे नियम

  • Delhi Metro Guidelines : सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन के लिए मेट्रो के सफर में लग सकता है ज्यादा वक्त
  • एक कोच में 50 से ज्यादा यात्री नहीं कर सकते हें सफर, रखनी होगी एक मीटर की दूरी

By: Soma Roy

Published: 04 Sep 2020, 10:06 AM IST

नई दिल्ली। लॉकडाउन के चलते मेट्रो का संचालन पिछले 22 मार्च से बंद है। अब अनलॉक-4 (Unlock 4.0) के बाद से दिल्ली मेट्रो 7 (Delhi Metro) सितंबर से दोबारा चलने को तैयार है। अब इसमें सफर करना पहले जैसा नहीं होगा। कोरोना महामारी के चलते नियमों में काफी बदलाव किए गए हैं। इसके लिए डीएमआरसी ने अपनी वेबसाइट पर विस्तृत गाइडलाइन (New Guidelines) भी जारी की है। जिसमें यात्रियों की एंट्री से लेकर प्लेटफॉर्म पर लगने वाले औसतन समय आदि की जानकारी दी गई है। तो क्या होंगे नए नियम जानें पूरी डिटेल।

अब दो से तीन नहीं बल्कि 7 मिनट में आएगी मेट्रो
दिल्ली-एनसीआर में चलने वाली मेट्रो को उसकी स्पीड और बेहतर फ्रीक्वेंसी के लिए जाना जाता है। यहां अमूमन 2 से 3 मिनट में एक मेट्रो प्लेटफॉर्म पर आ जाती है। किसी कारणवश देरी होने के चलते ही थोड़ा ज्यादा वक्त लगता है। मगर अब ये इंतजार बढ़ सकता है। क्योंकि कोरोना के चलते अब मेट्रो स्टेशनों पर ज्यादा देर रुकेगी। जिससे पैसेंजर्स को उतरने और चढ़ने के लिए पर्याप्त समय मिल सके। इसलिए अब हर प्लेटफॉर्म पर मेट्रो करीब 7 मिनट में पहुंचेगी।

इंटरचेंज स्टेशनों पर 1 मिनट रुकेगी मेट्रो
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने एवं यात्रियों को मेट्रो में चढ़ने-उतरने के दौरान दिक्कत न हो इसके लिए स्टेशनों पर अब मेट्रो 10-20 सेकेंड की बजाय 20-30 सेकेंड तक रुकेगी। वहीं इंटरचेंज स्टेशनों पर ये समय सीमा 1 मिनट तक हो जाएगी। इससे धक्का—मुक्की की आशंका नहीं रहेगी। यात्री आसानी से चढ़ व उतर पाएंगे। मेट्रो हर स्टेशन पर नहीं रुकेगी। खासतौर पर कंटेनमेंट जोन में इसके दरवाजे नहीं खुलेंगे।

स्मार्ट कार्ड से कर सकेंगे सफर
कोरोना काल के चलते अब मेट्रो में टोकन सिस्टम नहीं रहेगा। अब पैसेंजर्स महज स्मार्ट कार्ड के जरिए ही सफर कर सकेंगे। इससे संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा। कार्ड को रिचार्ज कराने के लिए भी काउंटर नहीं खुलेंगे। इसके लिए आपको डिजिटल प्लेटफॉर्म का सहारा लेना पड़ेगा। आप कैश देकर रिचार्ज नहीं करा सकते।

हर कोच में अधिकतम 50 यात्री
सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन के लिए मेट्रो के अंदर यात्री एक सीट छोड़कर बैठ सकेंगे। इसके लिए स्टीकर भी लगाए गए हैं। एक कोच में अधिकतम 50 लोग ही बैठ पाएंगे। यानि पूरी मेट्रो में अब 300-350 यात्री ही सफर कर पाएंगे। पैसेंजर्स को आपस में एक मीटर की दूरी रखनी होगी।

Show More
Soma Roy Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned