शहीदों के परिवार को आर्थिक मदद देने के लिए बना 'भारत के वीर' ट्रस्ट, अक्षय कुमार समेत सात लोग बने ट्रस्टी

शहीदों के परिवार को आर्थिक मदद देने के लिए बना 'भारत के वीर' ट्रस्ट, अक्षय कुमार समेत सात लोग बने ट्रस्टी

ट्रस्ट में दी गई राशि पर आयकर नहीं देना होगा

नई दिल्ली। मोदी सरकार ने भारत के शहीदों के परिजनों के लिए शानदार पहल की है। केंद्र सरकार ने भारत के वीर ट्रस्ट बनाया गया है। इस मंच के माध्यम से आम नागरिक शहीदों के परिवार आर्थिक सहायता प्रदान कर सकते हैं। खास बात यह है कि ट्रस्ट में दी गई राशि पर आयकर नहीं देना होगा। 'भारत के वीर' ट्रस्ट बनाए जाने की जानकारी केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर दी। उन्होंने लिखा, "केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा 'भारत के वीर' ट्रस्ट की स्थापना की गई है, ताकि सभी नागरिकों को योगदान देने और शहीद हुए सशस्त्रबल कर्मियों के परिवारों को सहायता देने के लिए मंच म मिल सके...ट्रस्ट को सात ट्रस्टियों के साथ बनाया गया है। इसकी अध्यक्षता केंद्रीय गृहसचिव करेंगे।" उन्होंने ये भी जानकारी दी कि अभिनेता अक्षय कुमार और पूर्व राष्ट्रीय बैडमिंटन चैंपियन पुलेला गोपीचंद को ट्रस्ट का ट्रस्टी बनाया गया है।

मिशन 2019: सवर्णों की नाराजगी भाजपा को पड़ेगी भारी!

 

 

दिल्ली मेट्रो की पिंक लाइन का विस्तार, अब विनोबापुरी से मयूर विहार पॉकेट वन तक दौड़ेगी ट्रेन

पिछले साल शुरू हुई थी सेवा

पिछले साल गृह मंत्रालय ने अभिनेता अक्षय कुमार के सुझाव पर भारत के वीर वेबसाइट और ऐप तैयार किया है। अब इस सेवा को ट्रस्ट का रूप दिया गया है। अक्षय ने सरकार को सलाह दी थी कि सीमा या आंतरिक सुरक्षा में तैनाती के दौरान शहीद हुए सशस्त्र बल के जवानों का ऑनलाइन ब्योरा सार्वजनिक होना चाहिए ताकि कोई भी व्यक्ति शहीद जवान के परिवार को मदद मुहैया करा सके। किसी भी शहीद के परिजन के बैंक खाते में सहायता राशि जमा कराने की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपए तय हुई थी। यह सीमा पूरी होते ही संबद्ध शहीद के परिजनों की जानकारी वेबसाइट से हटा जाएगी। पिछले साल अक्षय कुमार ने वेबसाइट के बारे में वीडियो शेयर करते हुए जानकारी दी थी। बता दें कि खिलाड़ी कुमार ने 11 मार्च 2017 को सुकमा में शहीद हुए जवानों के परिवार को 1.08 करोड़ रुपए दान दिए थे। अक्षय कुमार के इस नेक काम तारीफ खुद राजनाथ सिंह ने की थी।

Ad Block is Banned