देश में फिर फन उठा रहा कोरोना का नाग, हरियाणा के एक स्कूल में मिले इतने छात्र पॉजिटिव

  • देश में कोरोना महामारी के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान जारी है
  • एक मार्च को कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है

नई दिल्ली। देश में कोरोना महामारी ( coronavirus crisis ) के खिलाफ वैक्सीनेशन अभियान जारी है। एक मार्च को कोरोना वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) के दूसरे चरण की शुरुआत हो चुकी है, जिसके अंतर्गत 60 साल से ऊपर की उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। इस बीच राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली ( coronavirus in Delhi ) से सटे हरियाणा के करनाल से बड़ी खबर सामने आई है। यहां एक स्कूल हॉस्टल में कोरोना विस्फोट ( Corona explosion ) हुआ है। यहां 54 लड़के कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। सूचना मिलते ही स्कूल पहुंची मेडिकल टीम आवश्यक कार्यवाही कर रही है। इसके साथ ही हेल्थ डिपार्टमेंट ने हॉस्टल को कंटेनमेंट जोन ( Containment Zone ) घाषित कर दिया है।

मौसम विभाग की चेतावनी: इस बार पड़ेगी झुलसाने वाली गर्मी, इन इलाकों को तपाएगी सूरज की तपिश

पिछले 24 घंटों में देश में 12,286 नए मामले

एक रिपोर्ट के अनुसार यह हॉस्टल एक आर्मी स्कूल का है। एक स्थान से कोरोना के इतने सारे केस मिलने से स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप मच गया है। करनाल के मुख्य चिकित्साधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को हॉस्टल के तीन लड़के कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके बाद कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से 390 लड़कों की जांच कराई गई, जिनमें से 54 लोगों लड़कों में कोरोना की पुष्टि हुई है। आपको बता दें कि कोरोनावायरस के बढ़ते मामलों से उपजी चिंता के बीच पिछले 24 घंटों में देश में 12,286 नए मामले और 91 मौतें दर्ज हुईं हैं।

अब कोरोना वायरस के 1,68,358 सक्रिय मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि देश में अब मामलों की कुल संख्या 1,11,24,527 और मौतों की संख्या 1,57,248 हो गई है। देश में मामलों के पॉजिटिव आने की दर बढ़कर 1.51 प्रतिशत तक हो गई है। मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, बीते एक दिन में 12,464 रोगियों को छुट्टी देने के बाद देश में अब कोरोनावायरस के 1,68,358 सक्रिय मामले हैं। अब तक देश में कुल 1,07,98,921 लोग बीमारी से उबर चुके हैं और रिकवरी दर 97.07 प्रतिशत हो गई है।

Farmer Protest: गाजीपुर बॉर्डर पर 'रोटेशन पॉलिसी' का असर, बड़े चेहरे न होने पर भी जुट रहे किसान

कोविड प्रोटोकॉल के पालन में बरती जा रही ढिलाई

वहीं मामलों के बढ़ने को लेकर विशेषज्ञों का मानना है कि इसके लिए कोरोना वायरस का म्यूटेशन और नए वैरिएंट जिम्मेदार हैं। साथ ही कोविड प्रोटोकॉल के पालन में लोगों द्वारा बरती जा रही ढिलाई भी बड़ा कारण है।हालांकि पिछले 15 दिनों से मामले बढ़ने से पहले फरवरी के मध्य में अधिकारियों ने कहा था कि देश में औसत दैनिक संक्रमण के मामले 9,000 से 12,000 के बीच और मौतों के आंकड़े 78 से 120 के बीच थे। पिछले हफ्ते दर्ज हुए मामलों को देखें तो साप्ताहिक औसत के 90 फीसदी मामले 6 राज्यों- महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, पंजाब, कर्नाटक और गुजरात का था। मामलों की बढ़ती संख्या की चिंता के बीच केंद्र ने इन राज्यों में अपनी टीमें भी भेजी हैं।

मंत्रालय के मुताबिक रविवार को 7,59,283 नमूनों का परीक्षण करने के बाद आईसीएमआर द्वारा अब तक किए गए परीक्षणों की कुल संख्या 21,76,18,057 है।

coronavirus
Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned