सिंगापुर से ऑक्सीजन टैंकर मंगा रही है भारत सरकार, जर्मनी और UAE से भी मंगाने का फैसला

गृह मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया है कि सिंगापुर से ऑक्सीजन की चार क्रायोजेनिक (कम तापमान बनाए रखने में सक्षम) टैंकर विमानों से मंगाए जा रहे हैं। इस ऑक्सीजन को देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाया जाएगा।

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर सुनामी बनकर आई है। हर दिन लाखों की संख्या में नए मामले सामने आ रहे हैं, वहीं ऑक्सीजन की कमी से हाहाकार मचा है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और ऑक्सीजन की भारी कमी की वजह से मचे हाहाकार के बीच केंद्र सरकार ने विदेश से ऑक्सीजन मंगाने का बड़ा फैसला लिया है।

मोदी सरकार नागरिकों की जान को बचाने के लिए विदेश से ऑक्सीजन मंगा रही है। गृह मंत्रालय ने जानकारी देते हुए बताया है कि सिंगापुर से ऑक्सीजन की चार क्रायोजेनिक (कम तापमान बनाए रखने में सक्षम) टैंकर विमानों से मंगाए जा रहे हैं। इस ऑक्सीजन को देश के विभिन्न हिस्सों में पहुंचाया जाएगा।

यह भी पढ़ें :- ममता बनर्जी को पता नहीं बंगाल में ऑक्सीजन निर्माण वाली कितनी फैक्ट्रियां हैं: विजयवर्गीय

बता दें कि इससे पहले मोदी सरकार ने बीते गुरुवार को एक बड़ा फैसला लेते हुए सभी राज्यों को निर्देश दिया था कि ऑक्सीजन सिलिंडर लदी गाड़ी या टैंकर को बेरोकटोक आने दिया जाए। यदि किसी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न होती है तो उस राज्य के संबंधित जिले के एसपी और डीएम जिम्मेदार होंगे।

केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने भी सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्य सचिवों को लिखे एक पत्र में कहा कि वे ऑक्सीजन लाने-ले जाने वाले वाहनों की पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करें और उन्हें एंबुलेंस की तरह समझते हुए उनके आवागमन के लिए विशेष गलियारों का प्रावधान करें। मालूम हो कि शनिवार को ऑक्सीजन की कमी की वजह से राजधानी दिल्ली के एक अस्पताल में 25 मरीजों की मौत हो गई, जिसके बाद दिल्ली हाईकोर्ट गुस्से में आ गया है। शनिवार को सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि यह कोरोना की दूसरी लहर नहीं, बल्कि सुनामी है।

ऑक्सीजन लेने पहुंचा वायुसेना का विमान

ऑक्सीनज की कमी से मचे हाहाकार के बीच अब वायु सेना ने मोर्चा संभाल लिया है। जहां देश के अंदर एक राज्य से दूसरे राज्य तक ऑक्सीजन पहुंचाने के लिए सेना ने कार्य शुरू कर दिया है, तो वहीं विदेश से भी ऑक्सीजन लाने के लिए रवाना हो चुकी है। ऑक्सीजन लेने के लिए शनिवार की सुबह 8 बजे भारतीय वायु सेना के मालवाहक विमान सी-17 विमान ने हिंडन एयर बेस से पुणे एयर बेस के लिए उड़ान भरी और वहां से ऑक्सीजन के दो खाली कंटेनर ट्रक लोड कर गुजरात के जामनगर एयर बेस पहुंची।

इसके बाद हिंडन एयर बेस से आज सुबह 8 बजे उड़ान भरने वाले सी-17 जेट सुबह 10 बजे पुणे पहुंची। जहां पर ऑक्सीजन के दो खाली टैंकर सी-17 जेट पर लोड किए गए। फिर यह विमान दोपहर 1.30 बजे गुजरात के जामनगर पहुंचा।

यह भी पढ़ें :- देवदूत बन बचाईं जिंदगियां, रातभर बिना रुके दौड़ाया टैंकर, 7 घंटे में 400 दूर किमी. दूर से लेकर पहुंचे ऑक्सीजन

भारतीय वायु सेना सिंगापुर से चार ऑक्सीजन टैंकर एयर लिफ्ट कर भारत लाएगी। जानकारी के मुताबिक, हिंडन एयर बेस से ही रात 2 बजे वायु सेना के सी-17 विमान ने सिंगापुर के लिए उड़ान भरी है और सुबह 7.45 बजे सिंगापुर के चांगी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंच गई। वायु सेना के मुताबिक, यह विमान क्रायोजेनिक ऑक्सीजन टैंकर के चार कंटेनर को लेकर वापस भारत आएगा। वायुसेना के अनुसार, सिंगापुर से ऑक्सीजन टैंकर लेकर आने वाली सी-17 विमान पन्नागढ़ के अर्जन सिंह एयर बेस पर लैंड करेगा।

UAE और जर्मनी से भी आएगा ऑक्सीजन टैंकर

जानकारी के मुताबिक, सरकार ने संयुक्त अरब अमीरात से भी ऑक्सीजन मंगाने का फैसला किया है। भारतीय वायु सेना का एक विमान टैंकर लाने के लिए संयुक्त अरब अमीरात भी रवाना किया जाएगा। जर्मनी से 23 ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट ( Oxygen Generation Plant ) हवाई मार्ग से लाने का फैसला हो चुका है। बता दें कि इनमें से हर प्लांट प्रति मिनट 40 लीटर और प्रति घंटा 2400 लीटर आक्सीजन उत्पादन कर सकता है।

Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned