देवदूत बन बचाईं जिंदगियां, रातभर बिना रुके दौड़ाया टैंकर, 7 घंटे में 400 दूर किमी. दूर से लेकर पहुंचे ऑक्सीजन

टैंकर ड्राइवर ने कहा- जानता था कहीं देर हो गई तो कई भाइयों की जिंदगी खतरे में पड़ सकती है इसलिए ठान लिया था कि सुबह होते तक ऑक्सीजन पहुंचानी है..

By: Shailendra Sharma

Published: 24 Apr 2021, 03:29 PM IST

ग्वालियर. वो जानते थे कि उनकी कुछ पल की ही देरी कई लोगों की जिंदगी खतरे में डाल सकती है। इसलिए उन्होंने बिना देर किए और बिना रुके वो कर दिखाया जो काफी मुश्किल काम था। मुश्किल काम को आसान बनाकर कई जिंदगियां बचाने वाले इन देवदूतों के नाम उदयवीर सिंह और अफसर खान हैं। उदयवीर और अफसर खान वो दो शख्स हैं जो शनिवार की सुबह उम्मीद की किरण बनकर ऑक्सीजन टैंकर (oxygen tanker) लेकर उत्तरप्रदेश (uttar pradesh) के मोदीनगर (modinagar) से ग्वालियर (gwalior) पहुंचे। अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहे लोगों की जिंदगी बचाने के लिए उदयवीर सिंह ने रातभर बिना रुके टैंकर दौड़ाया और 12 घंटों में तय होने वाली 400 किमी. की दूरी को महज 7 घंटों में ही पूरा कर दिखाया।

ये भी पढ़ें- भारी किल्लत के बीच ऑक्सीजन सिलेंडर की जमाखोरी, गोदाम से 83 सिलेंडर जब्त

tanker.jpg

बिना रुके दौड़ाया टैंकर, 7 घंटे में तय किया 12 घंटों का सफर
दरअसल शुक्रवार की रात ग्वालियर शहर में ऑक्सीजन की कमी को लेकर हाहाकार मच गया था। ऐसे में प्रशासन ने आनन फानन में ऑक्सीजन की ममांग पूरी करने की व्यवस्था की और प्रशासनिक अधिकारी व अमला जहां से भी हो सका ऑक्सीनज सप्लाई करने में जुट गया। इसी बीच उत्तर प्रदेश के हापुड़ स्थित मोदीनगर से ऑक्सीजन टैंकर भी मंगवाया गया। जिसे लाने का जिम्मा उदयवीर सिंह और अफसर खान पर था। उदयवीर जानते थे कि उनकी कुछ पलों की भी देरी कई लोगों की सांसें रोक सकती है। लिहाजा उन्होंने तय किया कि वो कैसे भी हो जल्द से जल्द ऑक्सीजन टैंकर को ग्वालियर पहुंचाएंगे। दोनों शुक्रवार की रात 11 बजे प्राणवायु (ऑक्सीजन टैंकर) लेकर मोदीनगर से निकले और बिना रुके रातभर हवा से बातें करते हुए शनिवार की सुबह 6 बजे टैंकर लेकर ग्वालियर पहुंच गए। बता दें कि मोदीनगर से ग्वालियर की दूरी करीब 400 किलोमीटर है जिसे तय करने में वैसे तो 12 घंटें लगते हैं लेकिन उदयवीर ने महज 7 घंटों में ही सफर तय कर सुबह 6 बजे ऑक्सीजन टैंकर को ग्वालियर पहुंचा दिया।

ये भी पढ़ें- बिजली बंद होते ही अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकी, तड़पते रहे मरीज, देखें वीडियो

 

03_oxygen.png

जज्बे को सलाम
उदयवीर और अफसर खान ने बताया कि वो रात के वक्त गाड़ी चलाते वक्त नींद को भगाने के लिए हर एक घंटे में चाय पीते हैं। लेकिन शुक्रवार की रात हालात कुछ अलग थे। उन्हें अपनी जिम्मेदारी का एहसास था और उन्हें ये भी पता था कि अगर वक्त पर ऑक्सीजन नहीं पहुंची तो कई लोगों को अपनी जिंदगी खोकर इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। इसलिए उन्होंने तय किया कि वो बिना रुके सफर करेंगे और इसलिए वो इस बार सफर के दौरान कहीं पर भी बिना रुके चलते रहे।

देखें वीडियो- महिलाओं ने डंडे लेकर स्वास्थ्य विभाग की टीम को खदेड़ा

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned