सेना के जवानों को मिलेगा ऐसा ब्रह्मास्त्र, पत्थरबाजों को वाहन में बैठकर ही करेंगे परास्त

  • stone pelters से बचने के लिए मिला indian army powerfull mcv
  • अत्याधुनिक तकनीक से लैस है Mob Control Vehicle
  • सितंबर में बनकर तैयार हो जाएगा mcv

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( jammu kashmir ) से अक्सर भारतीय सेना ( Indian army ) के जवानों पर पत्थरबाजी की खबरें आती हैं। उपद्रवियों की भीड़ पर काबू कर पाने में सुरक्षाबलों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। वहीं पथराव की वजह से जवान भी घायल होते हैं। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने सेना की ताकत को बढ़ाने के लिए ( Indian Army Powerfull MCV ) एक नई तरकीब लगाई है। सरकार पत्थरबाजों ( Stone Pelters ) के मंसूबे को अब तकनीक के जरिए ध्वस्त करने में लगी है।

यह भी पढ़ें-दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस की नई पहल, पेपरलेस हुआ कोर्टरुम

दरअसल, प्रधानमंत्री कार्यालय और केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर स्थित केंद्रीय यांत्रिकी अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों को ऐसा मॉब कंट्रोल व्हीकल ( Mob Control Vehicle ) बनाने का निर्देश दिया जो जवानों का सुरक्षा कवच बने।

बता दें कि अत्याधुनिक तकनीक से लैस इस वाहन को न भीड़ पलट सकेगी और न ही इसमें आग लगेगी। पथराव की स्थिति में वाहन में बैठे जवान घायल भी नहीं होंगे।

नौ माह से चल रहा है MCV पर काम

mcv

दुर्गापुर (सीएमईआरआइ) के वैज्ञानिकों मॉब कंट्रोल व्हीकल पर करीब नौ माह पहले से काम कर रहे हैं। जानकारी के मुताबिक सितंबर तक यह वाहन बनकर तैयार हो जाएगा, जिसके बाद इसे सेना को सौंप दिया जाएगा।

ये है खासियत

सेना का यह वाहन अभेद्य दुर्ग की तरह होगा। इसके अंदर लगे कैमरे के माध्यम से सेना के जवान उपद्रवियों को देख सकेंगे और उन पर कार्रवाई करेंगे। बता दें कि MCV ( Indian Army Powerfull MCV ) के अंदर उच्च क्षमता के वाइड एंगल कैमरों का इस्तेमाल किया जा रहा है। ये कैमरें 170 डिग्री क्षेत्र तक की जानकारी देंगे।

mcv

वाहन में वीडियो ट्रांसमिशन सिस्टम भी लगा हुआ है, जिसके माध्यम से दूर कार्यालय में बैठे अधिकारी मौजूदा स्थिति पर पूरी तरह नजर रख सकेंगे और जवानों को उचित दिशा निर्देश दे सकेंगे।

वहीं, इस वाहन में भीड़ पर पानी फेंकने, आंसू गैस छोड़ने और आग बुझाने की भी व्यवस्था की गई है। वाहन में लगे मल्टी बैरल लांचर के माध्यम भीड़ पर पानी व अश्रु गैस छोड़ी जा सकेगी। आग बुझाने के लिए फोम स्प्रे सिस्टम व पानी की व्यवस्था की गई है।

MCV को बना रहे वैज्ञानिकों की टीम के सदस्य के मुताबिक, इस वाहन की चाल 30-40 किमी प्रति घंटा होगी। इसमें आठ जवान आराम से बैठ सकेंगे।

भीड़ को पीछे धकेलेगा ये वाहन

stone pelters

MCV ( Indian Army Powerfull MCV ) को उच्च तकनीक के स्टील से बनाया जा रहा है। इस वाहन पर बस का असर नहीं होगा। इसके अलावा वाहन में लोहे की एक दीवार भी आगे लगाई गई है। जब भी उग्र भीड़ वाहन के पास आएगी तो दीवार उनके सामने आ जाएगी। इसके माध्यम से वाहन को आगे बढ़ाकर दीवार के माध्यम से भीड़ को धकेला जा सकेगा।

Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned