पुडुचेरी के उप राज्यपाल पद से हटाए जाने के बाद किरण बेदी ने ट्वीट कर दी अपनी पहली प्रतिक्रिया, जानिए क्या कहा

Highlights.
- किरण बेदी ने बुधवार सुबह पुडुचेरी के उप राज्यपाल पद से हटाए जाने के बाद अपनी प्रतिक्रिया दी
- मंगलवार देर शाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के निर्देश पर बेदी को उप राज्यपाल पद से हटा दिया गया था
- उन्होंने ट्वीट में लिखा, मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करती हूं, जो उप राज्यपाल के तौर पर मेरे इस सफर के साथी रहे

 

नई दिल्ली।

भाजपा नेता और पूर्व आईपीएस अधिकारी किरण बेदी ने बुधवार सुबह पुडुचेरी के उप राज्यपाल पद से हटाए जाने के बाद अपनी प्रतिक्रिया दी। उन्होंने ट्वीट में लिखा, मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करती हूं, जो पुडुचेरी की उप राज्यपाल के तौर पर मेरे इस सफर के साथी रहे। पुडुचेरी के लोगों और सभी सरकारी अधिकारियों का धन्यवाद।

बता दें कि एक दिन पहले यानी मंगलवार देर शाम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के निर्देश पर किरण बेदी को पुडुचेरी के उप राज्यपाल पद से हटा दिया गया था। इसके साथ ही तेलंगाना की राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन को पुडुचेरी के उप राज्यपाल पद का अतिरिक्त कार्यभार दिया गया।

ट्वीट में क्या कहा किरण बेदी ने
पूर्व आईपीएस अधिकारी और पुडुचेरी की उप राज्यपाल रहीं किरण बेदी ने पद से हटाए जाने के एक दिन बाद ट्वीट कर कहा, मैं उन सभी का धन्यवाद करती हूं, जो पुडुचेरी की उप राज्यपाल के तौर पर मेरे इस सफर में साथ रहे। पुडुचेरी के लोगों और सभी सरकारी अधिकारियों को धन्यवाद।

ट्वीट के साथ एक पत्र भी पोस्ट किया
यही नहीं, किरण बेदी ने अपने ट्वीट के साथ एक पत्र भी पोस्ट किया है। इस पत्र में उन्होंने अपने साथ काम करने वाले लोगों को धन्यवाद कहा। किरण बेदी ने एक और ट्वीट पोस्ट की। इसमें उन्होंने अपनी मेज पर रखी डायरी की तस्वीर साझा की है। इसमें लिखा है- उदार ह्रदय, तीव्र दिमाग, साहसी जज्बा।

कांग्रेस सरकार ने अपना बहुमत खो दिया
गौरतलब है कि मंगलवार देर रात राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के निर्देश पर उन्हें इस पद से हटा दिया गया। किरण बेदी को उप राज्यपाल पद से हटाए जाने का आदेश तब आया, जब इस केंद्र शासित प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने अपना बहुमत खो दिया। यहां सत्तारूढ़ कांग्रेस के चार सदस्यों ने इस्तीफा दे दिया, जबकि एक को पार्टी विरोधी गतिविधियों में निष्कासित कर दिया गया।
कांग्रेस के एक विधायक ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सत्तारूढ़ दल कांग्रेस और विपक्षी दल के सदस्य बराबर रह गए।

Congress
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned