जानिए कोरोना वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब, जो आप जानना चाहते हैं

- संक्रमित व्यक्ति ठीक होने के 14 दिन बाद लगवा सकता है टीका ?
- देश में पहले दिन 3600 वैक्सीन सेंटर पर तीन लाख लोगों को टीका ?

वैक्सीन को लेकर कुछ इस तरह के सवाल आपके मन में भी हो सकते हैं, जिनके बारे में आप इस तरह समझ सकते हैं... तो जानिए वैक्सीन से जुड़े हर सवाल का जवाब जो आपके मन में उठ रहे हैं।

आज से अभियान की शुरुआत, किसको लगेगा पहला टीका?
वरीयता समूह के लोगों के साथ स्वास्थ्य कर्मचारी जैसे डॉक्टर, नर्स, वार्ड बॉय, सफाई कर्मचारी, सेना और डिजास्टर मैनेजमेंट के वॉलिंटियर।

पहले दिन कितने लोगों को लगेगा टीका?
देश में 3006 वैक्सीन सेंटर बनाए गए हैं, हर सेंटर पर 100 लोगों को टीका लगाया जाएगा। ऐसे में देश में पहले दिन करीब तीन लाख लोगों को टीका लगेगा।

वैक्सीन की क्या कीमत देनी होगी?
सरकार ने पहले चरण के टीकाकरण का भुगतान खुद करने का फैसला किया है। मतलब यह कि पहले चरण के तीन करोड़ लोगों को टीके की दोनों खुराक फ्री मिलेंगी।

क्या खुले बाजार में भी उपलब्ध होगी वैक्सीन?
पहले चरण के पूरे होने से पहले वैक्सीन बाजार में उपलब्ध नहीं होगी। सरकार ने कोविशील्ड और कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल की अनुमति दी है। ऐसे में ये अनुमति मिलने तक बाजार में उपलब्ध नहीं होंगी।

राज्यों को किस आधार पर मिलेगी वैक्सीन?
राज्यों में कोविड वायरस की तीव्रता को ध्यान में रखकर वैक्सीन मिलेगी। जिन राज्यों में वायरस का असर ज्यादा होगा, उन्हें वैक्सीन की ज्यादा खुराक मिलेंगी।

मन में सवाल उठ रहे हैं, कहां पूछें?
सरकार ने वैक्सीन ड्राइव और कोविड एप से जुड़े सवालों का समाधान करने के लिए हेल्पलाइन नंबर 1075 जारी किया है। दावा है कि यहां पर हर सवाल का जवाब दिया जाएगा।

वैक्सीन लगने के बाद -

वैक्सीन लगने के बाद किन बातों का ध्यान रखना होगा?
वैक्सीन लगने के बाद 30 मिनट तक वहीं आराम करना होगा। यदि बाद में बेचैनी या दिक्कत होती है, तो स्वास्थ्य अधिकारी, एएनएम या आशा को सूचना दें। मास्क पहनना, हाथ की सफाई और शारीरिक दूरी जैसे नियमों का पालन अनिवार्य रहेगा।

टीका लगने के बाद कोई साइड इफेक्ट दिखता है?
वैक्सीन लगने के बाद हल्का बुखार, शरीर दर्द, सिरदर्द का मतलब शरीर पर टीके का असर हो रहा है। इसको लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। यह अन्य वैक्सीन के साथ भी होता है। यदि समस्या ज्यादा हो, तो तुरंत स्थानीय स्वास्थ्य केंद्र पर संपर्क करना होगा।

वैक्सीन के कितने बाद एंटीबॉडी विकसित होंगी?
वैक्सीन की दूसरी खुराक लेने के दो सप्ताह बाद एंटीबॉडी का सुरक्षात्मक स्तर विकसित होता है।

क्या हेल्थकेयर व फ्रंटलाइन वर्कर के परिवार को भी वैक्सीन लगेगी?
प्रारंभिक चरण में वैक्सीन प्राथमिकता की श्रेणी वाले लोगों को लगेगी। बाद में वैक्सीन सभी को उपलब्ध कराई जाएगी।

वैक्सीन की दूसरी डोज -

दूसरा टीका कब लगाया जा सकता है?
वैक्सीन का दूसरा टीका 14-21 दिनों के अंतराल पर ही लगवा सकते हैं।

वैक्सीन की पहली खुराक के बाद कोई संक्रमित होता है, तो क्या करें?
वैक्सीन की एक डोज लगने के बाद एंटीबॉडी विकसित होने में 14 दिन से अधिक का समय लगता है, इसलिए संक्रमित होना गंभीर नहीं है। वैक्सीन के लिए रजिस्ट्रेशन के दौरान मिले हेल्पलाइन नंबर पर बात कर सकते हैं।

क्या वैक्सीन की दूसरी डोज में अन्य कंपनी की लगवा सकते हैं?
नहीं, दूसरी खुराक के लिए आप दूसरी कंपनी की वैक्सीन नहीं लगवा सकते हैं। आपको यदि कोवैक्सीन लगी है, तो 14 दिन बाद दूसरी डोज में भी वही वैक्सीन लगवानी होगी।

संक्रमित मरीज वैक्सीन लगवा सकता है?
नहीं, संक्रमित मरीज रिकवर होने के 14 दिन बाद ही वैक्सीन लगवा सकता है।

...तो आप वैक्सीन नहीं लगवा सकते

क्या 18 साल से कम उम्र के व्यक्ति को टीका लगाया जा सकता है?
केवल 18 साल से ऊपर उम्र के ही लोगों को वैक्सीन लगाई जा सकती है। भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को 12 साल से बड़ी उम्र के बच्चों के आपातकालीन इस्तेमाल की अनुमति मिल गई है। भारत के ड्रग कंट्रोलर जनरल ने इस वैक्सीन को 18 साल से कम उम्र के बच्चे पर क्लीनिकल ट्रायल की अनुमति दी है। इसके तहत जिन भी बच्चों को ये वैक्सीन दी जाएगी, उनके स्वास्थ्य लक्षणों की निरंतर मॉनिटरिंग की जाएगी।

गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिलाएं वैक्सीन लगवा सकती हैं?
नहीं, ऐसी महिलाएं जो 18 साल से ऊपर उम्र की हों और गर्भवती हों या बच्चे को दूध पिला रही हों, उन्हें अभी वैक्सीन नहीं लगाई जा सकती है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned