scriptLast statement of Nathuram Godse in Mahatma Gandhi murder case | महात्मा गांधी मर्डर केस में नाथूराम गोडसे का वो अंतिम बयान, जिसे सुनकर आंखें हो गई थी नम | Patrika News

महात्मा गांधी मर्डर केस में नाथूराम गोडसे का वो अंतिम बयान, जिसे सुनकर आंखें हो गई थी नम

19 मई 1910 को पुणे स्थित बारामती में हुआ था। संघ विचारधारा को मानने वाले नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को जान से मार दिया था और अपने आपको आत्म समर्पण कर दिया था।

नई दिल्ली

Updated: May 19, 2021 12:28:18 pm

नई दिल्ली। आज यानी 19 मई को ही महात्मा गांधी को गोलियो से भूनने वाले नाथू राम गोडसे का जन्म हुआ था। 19 मई 1910 को पुणे स्थित बारामती में हुआ था। संघ विचारधारा को मानने वाले नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी को जान से मार दिया था और अपने आपको आत्म समर्पण कर दिया था। उसके बाद उन्हें कोर्ट में जज के सामने लाया गया। बयान हुए उसके बाद उन्हें फांसी की सजा दे दी गई। आज हम आपको नाथूराम गोडसे के अंतिम बयान के बारे में बताने जा रहे हैं, जो उन्होंने जज के सामने दिया था। जिसे सुनकर कोर्ट में बैठे हर व्यक्ति की आंखें नम हो गई थी। आइए आपको भी बताते हैं कि उन्होंने अपने बयान में क्या कहा था।

Last statement of Nathuram Godse in Mahatma Gandhi murder case
Last statement of Nathuram Godse in Mahatma Gandhi murder case

नाथूराम गोडसे का कोर्ट में जज के सामने अंतिम बयान
'सम्मान, कर्तव्य और अपने देश वासियों के प्रति प्यार कभी कभी हमें अहिंसा के सिद्धांत से हटने के लिए बाध्य कर देता है. में कभी यह नहीं मान सकता की किसी आक्रामक का सशस्त्र प्रतिरोध करना कभी गलत या अन्याय पूर्ण भी हो सकता है।

प्रतिरोध करने और यदि संभव हो तो ऐसे शत्रु को बलपूर्वक वश में करना को मैं एक धार्मिक और नैतिक कर्तव्य मानता हूं। मुसलमान अपनी मनमानी कर रहे थे, या तो कांग्रेस उनकी इच्छा के सामने आत्मसर्पण कर दे और उनकी सनक, मनमानी और आदिम रवैये के स्वर में स्वर मिलाये अथवा उनके बिना काम चलाए। वे अकेले ही प्रत्येक वस्तु और व्यक्ति के निर्णायक थे।

महात्मा गांधी अपने लिए जूरी और जज दोनों थे। गांधी जी ने मुस्लिमों को खुश करने के लिए हिंदी भाषा के सौंदर्य और सुन्दरता के साथ बलात्कार किया। गांधी जी के सारे प्रयोग केवल और केवल हिन्दुओ की कीमत पर किए जाते थे। जो कांग्रेस अपनी देश भक्ति और समाज वाद का दंभ भरा करती थी। उसी ने गुप्त रूप से बन्दुक की नोक पर पाकिस्तान को स्वीकार कर लिया और जिन्ना के सामने नीचता से आत्मसमर्पण कर दिया।

मुस्लिम तुष्टिकरण की नीति के कारण भारत माता के टुकड़े कर दिए गय और 15 अगस्त 1947 के बाद देश का एक तिहाई भाग हमारे लिए ही विदेशी भूमि बन गई। नेहरु तथा उनकी भीड़ की स्वीकारोक्ति के साथ ही एक धर्म के आधार पर अलग राज्य बना दिया गया। इसी को वे बलिदानों द्वारा जीती गई स्वतंत्रता कहते है और किसका बलिदान?

जब कांग्रेस के शीर्ष नेताओ ने गांधी जी के सहमती से इस देश को काट डाला ,जिसे हम पूजा की वस्तु मानते है, तो मेरा मस्तिष्क भयंकर क्रोध से भर गया। मैं साहस पूर्वक कहता हूँ की गांधी अपने कर्तव्य में असफल हो गए। उन्होंने स्वयं को पाकिस्तान का पिता होना सिद्ध किया।

मैं कहता हूं की मेरी गोलियां एक ऐसे व्यक्ति पर चलाई गई थी, जिसकी नीतियों और कार्यों से करोड़ों हिन्दुओं को केवल बर्बादी और विनाश ही मिला। ऐसी कोई क़ानूनी प्रक्रिया नहीं थी, जिसके द्वारा उस अपराधी को सजा दिलाई जा सके, इसलिए मैंने इस घातक रास्ते का अनुसरण किया।

मैं अपने लिए माफ़ी की गुजारिश नहीं करूंगा, जो मैंने किया उस पर मुझे गर्व है। मुझे कोई संदेह नहीं है कि इतिहास के ईमानदार लेखक मेरे कार्य का वजन तोल कर भविष्य में किसी दिन इसका सही मूल्यांकन करेंगे। जब तक सिन्धु नदी भारत के ध्वज के नीचे से ना बहे तब तक मेरी अस्थियों का विसर्जन मत करना।'

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon : राजस्थान में 3 अगस्त से बारिश का नया सिस्टम, पूरे प्रदेश में होगी झमाझमNSA डोभाल की मौजूदगी में बोले मुस्लिम धर्मगुरु- 'सर तन से जुदा' हमारा नारा नहीं, PFI पर प्रतिबंध की बनी सहमतिकीमत 4.63 लाख रुपये से शुरू और देती हैं 26Km का माइलेज! बड़ी फैमिली के परफेक्ट हैं ये सस्ती 7-सीटर MPV कारेंराजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी, स्कूलों की तीन दिन की छुट्टी, आज इन जिलों में झमाझम की चेतावनीWeather Update: राजस्थान में झमाझम बारिश को लेकर अब आई ये खबरराजस्थान में आज यहां होगी बारिश, एक सप्ताह तक के लिए बदलेगा मौसमएमपी में 220 करोड़ से बनेगा 62 किमी लंबा बायपास, कम हो जाएगी कई शहरों की दूरी, जारी हो गए टेंडरसरकारी नौकरी लगवा देंगे कहकर 10 युवाओं को लगाई 75 लाख रुपए की चपत, 2 गिरफ्तार

बड़ी खबरें

ताइवान यात्रा के बाद चीन ने नैंसी पेलोसी पर लगाया प्रतिबंध, भारत ने कहा- लद्दाख सीमा से दूर रहे चीनी फाइटर जेटMaharashtra Panchayat Election Results 2022: महाराष्ट्र पंचायत चुनाव में शिंदे खेमे ने दिखाया दम, बीजेपी-उद्धव गुट समेत अन्य दलों के ऐसे रहें नतीजेCongress Protest: काले कपड़ों में संसद तक पहुंचे कांग्रेस सांसद, विजय चौक पहुंचने से पहले हिरासत में राहुल गांधीMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर बड़ी जानकारी आई सामने, उज्ज्वल निकम से मिले CM शिंदेदिल्लीवालों पर महंगाई की एक और मार, PNG के दामों में हुआ 2.63 रुपए प्रति यूनिट का इजाफाबीज का लक्ष्य है पेड़ बन जाना, हमें भी लक्ष्य तय करना चाहिए, 'गीताविज्ञान' पर डॉ. गुलाब कोठारी का संवादउत्तराखंड सरकार कर रही हर जिले में संस्कृत ग्राम बनाने की तैयारी, दुनिया देखेगी प्राचीन भारतीय संस्कृति की झलक!T-20 के एक ओवर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टॉप-3 बल्लेबाज, युवराज सिंह का रिकॉर्ड टूटने से बचा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.