मदनलाल खुराना का आज होगा अंतिम संस्कार, भाजपा कहती थी 'दिल्ली का शेर'

खुराना के मुख्‍यमंत्रित्‍वकाल में दिल्ली को मेट्रो मिली जो अब देश की राजधानी की लाइफलाइन है।

नई दिल्‍ली। दिल्ली के पूर्व सीएम मदनलाल खुराना का शनिवार की रात कीर्ति नगर स्थित आवास पर निधन हो गया। मदन लाल खुराना का पार्थिव शरीर आज 12 बजे भाजपा के दिल्ली प्रदेश कार्यालय पंडित पंत मार्ग पर अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा । खुराना के परिवार के सदस्यों ने बताया है कि रविवार को उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। बता दें कि वाजपेयी मंत्रीमंडल में संसदीय कार्य व पर्यटन मंत्री रहे खुराना 'दिल्ली के शेर' के नाम से मशहूर थे। उन्हीं के मुख्यमंत्री रहते हुए दिल्ली को मेट्रो मिली जिसे कांग्रेस नेता शीला दीक्षित के कार्यकाल में बड़े पैमाने पर विस्‍तार मिला।

अमृतसर रेल हादसा: मुआवजा मिलने से पहले अस्पताल से घर नहीं जाना चाहते घायल मरीज

वाजपेयी के करीबी थे खुराना
दिल्‍ली पूर्व सीएम मदनलाल खुराना 1993 से 1996 तक दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे। इसके बाद भाजपा ने दिल्ली में साहिब सिंह वर्मा को अपना चेहरा चुन लिया। केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में वह पर्यटन मंत्री भी रहे। उन्‍हें वाजपेयी के करीबियों ने हमेशा गिना जाता रहा।

समर्पित स्‍वयंसेवक थे खुराना
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्‍ली के पूर्व सीएम खुराना के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता मदनलाल खुराना जी के निधन का दुखद समाचार है। खुराना जी एक आदर्श स्वयंसेवक, एक समर्पित विद्यार्थी परिषद कार्यकर्ता व जनसंघ और भारतीय जनता पार्टी के एक मजबूत स्तम्भ के रूप में सदैव याद किए जाएंगे।। उन्‍होंने कहा है कि दिल्ली में संगठन को गढ़ने में खुराना जी की अहम भूमिका रही और वह दिल्ली के शेर के रूप में सुप्रसिद्ध हुए। भाजपा के करोड़ों कार्यकर्ताओं की ओर से खुराना जी के परिवार के प्रति अपनी संवेदनायें व्यक्त करता हूं व दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं।

राजस्‍थान के राज्‍यपाल
आपको बता दें कि 82 वर्षीय खुराना 1993 से 1996 तक दिल्ली के मुख्यमंत्री और 2004 में राजस्थान के राज्यपाल रहे। दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता और उनके पुत्र हरीश खुराना ने बताया कि उम्र संबंधी बीमारियों के कारण वह 2011 से अस्वस्थ चल रहे थे। खुराना के बेटे हरीश ने बताया कि उन्होंने यहां कीर्ति नगर स्थित आवास में रात करीब 11 बजे अंतिम सांस ली।

Amit Shah
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned