नवजोत सिंह सिद्धू का नहीं चल रहा कोई पता, चार दिन से घर के बाहर बैठी पुलिस

  • Punjab Congress Leader Navjot singh Sidhu को ढूंढ रही Police
  • चार दिन से नाघर पर और ना ही कहीं ओर मिले कांग्रेस नेता
  • पिछले साल Election Campaign के दौरान दिया था भड़काऊ भाषण

नई दिल्ली। कांग्रेस ( Congress Leader ) के फायरब्रांड नेताओं में शुमार पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ( Navjot Singh Sidhu ) एक बार फिर सुर्खियों में हैं। इस बार उनके सुर्खियों की वजह उनका लापता होना है। दरअसल बिहार पुलिस ( Bihar Police ) पिछले चार दिन से कांग्रेस नेता की तलाश में जुटी है, लेकिन उनका कहीं कोई अता-पता नहीं चल रहा है।

पुलिस रोज उनकी तलाश में घर से लेकर दफ्तर तक जाती है, लेकिन सिद्धू के बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल पा रही है।

लॉकडाउन के चलते सेना से सेवानिवृत्त जवानों पर आया आर्थिक संकट, बैंक से नहीं निकाल पा रहे अपनी पेंशन

ये है मामला
बिहार पुलिस की एक टीम पिछले साल चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के एक मामले में कटिहार की अदालत द्वारा जारी समन कांग्रेस विधायक नवजोत सिंह सिद्धू को सौंपने के लिए पंजाब में है।

कटिहार के पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने कहा कि दो सदस्यीय टीम पिछले कुछ दिन से अमृतसर में सिद्धू के घर के बाहर बैठी है, लेकिन न तो सिद्धू वहां मौजूद हैं और न ही उनके कहने पर किसी और ने समन ग्रहण किया है।

नवजोत सिंह सिद्धू पर आरोप है कि उन्होंने पिछले साल 16 अप्रैल को कटिहार में चुनाव प्रचार ( election campaign ) के दौरान भड़काऊ भाषण दिया था।

सब इंस्पेक्टर जावेद अहमद और जनार्दन पिछले 4 दिनों से अमृतसर में सिद्धू से मिलना चाह रहे हैं, लेकिन हर रोज उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ रहा है। सिद्धू अपने घर में हैं या नहीं किसी को इसकी कोई जानकारी नहीं है।

सिक्योरिटी गार्ड के पास भी नहीं जवाब
पुलिस से लेकर मीडिया तक जो भी सिद्धू के बारे में जानने के लिए उनके घर जाता है। सिक्योरिटी गार्ड उन्हें किसी से मिलने नहीं देते हैं। गार्ड कहते हैं कि उन्हें नहीं पता साहब कहां हैं। इस बीच अमृतसर के पुलिस कमिश्नर सुखचैन सिंह गिल ने कहा कि स्थानीय पुलिस से बिहार पुलिस ने फिलहाल कोई संपर्क नहीं किया है।

बिहार के दोनों पुलिस अधिकारी फिलहाल वापस लौटने के मूड में नहीं हैं। उन्होंने कहा है कि इस बारे में वे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के आदेशों का इंतजार कर रहे हैं।

चीन से चनाव के बीच नेपाल ने चली एक और बड़ी चाल, अब बिहार के एक हिस्से पर की अपनी दावेदारी

बिहार में जिस समय मामला दर्ज हुआ था, उस समय सिद्धू को थाने से जमानत मिल गई थी। अब जमानत की अवधि समाप्त हो रही है। पुलिस के मुताबिक इस अवधि को बढ़ाने के लिए उन्हें जरूरी दस्तावेजों पर साइन चाहिए थे। उन्होंने बताया कि अगर सिद्धू के साइन नहीं मिले तो उनकी जमानत खत्म हो जाएगी।

Congress Congress leader
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned