निर्मला सीतारमण बोलीं - जोखिम और सुधारों वाला है इस साल का बजट, विपक्ष के आरोपों को किया खारिज

  • पीएम मोदी के अनुभवों का देश को मिल रहा है लाभ।
  • इस साल का बजट अनुभवों पर आधारित साहसक बजट।

नई दिल्ली। शुक्रवार को राज्यसभा में बजट पर चर्चा के दौरान वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने विपक्षी नेताओं के सवालों का जवाब दिया। उन्होंने सदन में कहा कि यह एक ऐसा बजट है जो स्पष्ट रूप से अनुभव, प्रशासनिक क्षमताओं और उस जोखिम का प्रतीक है जिसे पीएम नरेंद्र मोदी ने उठाया है। उन्हें अपने लंबे निर्वाचित कार्यकाल के दौरान इस देश के सीएम और पीएम के रूप में विकास और सुधारों के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए जाना जाता है।

साहसिक बजट

केंद्रीय वित्त मंत्री ने बजट 2021 को लेकर विपक्ष के सभी आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि देश का तीव्र विकास और हर क्षेत्रों में सुधार के प्रति उनकी जोखिम उठाने की क्षमता का ही परिणाम है कि कोरोना संकट के दौर में भी हम एक साहसिक बजट पेश करने में सफल हुए हैं।

सरकार ने लोगों की हर संभव मदद की

उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के दौरान हमारी सरकार ने 800 मिलियन लोगों को मुफ्त में खाद्यान्न मुहैया कराने का काम किया। 80 मिलियन लोगों को मुफ्त में खाना बनाने वाली गैस उपलब्ध कराई। 400 मिलियन लोगों, किसानों, महिलाओं, दिव्यांगों, गरीबों और जरूरतमंदों को सीधे नकद राशि दी गई। यह काम सरकार के लिए आसान नहीं था।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned