Patrika Poll : 99% लोग बोले - '9 मिनट की दिवाली' में कोरोना के खिलाफ दिखी देश की एकजुटता

  • Coronavirus को लेकर पत्रिका का पोल
  • फेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर जनता से सवाल
  • ज्यादातर यूजर्स ने कहा- '9 मिनट की दिवाली' में कोरोना के खिलाफ देश की एकजुटता दिखा

नई दिल्ली। पूरी दुनिया इन दिनों कोरोना वायरस ( coronavirus ) की चपेट में है। 10 लाख से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं और 50 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। भारत ( corona in india ) में भी यह वायरस काफी तेजी से फैल रहा है। देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3600 के पार पहुंच चुका है और 109 लोगों की मौत हो चुकी है। सरकार ने 14 अप्रैल तक के लिए देश में लॉकडाउन ( Lockdown ) कर दिया और लोगों से सोशल डिस्टेंस ( Social Distance ) मेंटेन करने के लिए कहा है। हालांकि, तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है।

इस खतरनाक महामारी को हराने के लिए पत्रिका भी लगातार कोशिश में है। इस वायरस को लेकर हर दिन लोगों से अलग-अलग सवालों पर राय ली जा रही है। Patrika Poll में लोग बढ़चढ़ कर हिस्सा ले रहे हैं। इसी कड़ी में हमारा आज का सवाल था रविवार रात '9 मिनट की दिवाली' ने कोरोना से जंग में देश की एकजुटता को प्रदर्शित किया है? इस सवाल पर इंस्टाग्राम, फेसबुकर और ट्विटर पर लोगों ने जमकर जवाब दिया और अपनी राय दी।

'9 मिनट की दिवाली में दिखा देश की एकजुटता'

Patrika Poll में लोगों से सवाल किया गया था कि क्या '9 मिनट की दिवाली' में कोरोना के खिलाफ दिखा देश की एकजुटता। इसके तीन ऑप्शन भी दिए गए थे। पहला ऑप्शन था हां, दूसरा नहीं और तीसरा पता नहीं।

फेसबुक पर 99.9 फीसदी लोगों ने एकजुटता का किया समर्थन

फेसबुकर पर 99.9 फीसदी लोगों ने कहा कि '9 मिनट की दिवाली देश की एकजुटता दिखा। जबकि, 0.1 प्रतिशत लोगों का जवाब था नहीं। जबकि, पता नहीं पर किसी ने समर्थन नहीं किया।

इंस्टा पर 90 फीसदी ने किया समर्थन

वहीं, इंस्टग्राम पर 90 फीसदी लोगों ने कहा कि '9 मिनट की दिवाली' पर देश में एकजुटता दिखा। जबकि, 10 फीसदी लोगों का कहना है है कि एकजुटता नहीं दिखा।

ट्विटर पर 80 फीसदी लोगों ने एकजुटता का किया समर्थन

वहीं, सोशल साइट्स ट्विटर पर भी Patrika Poll में लोगों ने जमकर हिस्सा लिया। 79.4 फीसदी लोगों ने कहा कि '9 मिनट की दिवाली ' में देश की एकजुटता दिखा। जबकि, 16.2 प्रतिशत लोगों का कहना था कि इस दौरान एकजुटता नहीं दिखा। जबकि, 4.3 फीसदी लोगों ने पता नहीं ऑप्शन को सेलेक्ट किया। ओवर ऑल नतीजे पर गौर किया जाए तो लोगों का साफ कहना है कि रविवार रात को '9 मिनट की दिवाली' ने कोरोना से जंग में देश की एकजुटता को प्रदर्शित किया है।

Kaushlendra Pathak Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned