PM Modi बोले :  चुनौतियों से ज्यादा अहम खुद का मकसद होना चाहिए, संकट में भी अवसरों की कमी नहीं

  • कोरोना की वजह से ऊर्जा क्षेत्र में बड़े बदलाव हो रहे हैं।
  • चुनौतियों से भरे इस दौर में भी अवसरों की कमी नहीं।

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए गांधीनगर स्थित पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह को संबोधित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि आज आप लोग ऐसे समय में औद्योगिक क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं कि जब कोरोना वायरस महामारी के कारण दुनिया के ऊर्जा क्षेत्र में बड़े बदलाव हो रहे हैं। यह एक ऐसा दौर है जब कोरोना संकट के साथ उद्यमिता और रोजगार के विकास के कई अवसर उभरकर सामने आए हैं।

संकट के समय ग्रेजुएट होना आसान नहीं

पीएम मोदी ने दीक्षांत समारोह के दौरान विश्वविद्यालय में मोनोक्रिस्टलाइन सोलर फोटो वोल्टाइक पैनल और सेंटर ऑफ एक्सीलेंस ऑन वॉटर टेक्नोलॉजी के 45 मेगावाट के उत्पादन संयंत्र का भी शिलान्यास और इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर-टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेशन और स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया। उन्होंने युवाओं से कहा कि ऐसे समय में ग्रेजुएट होना जब दुनिया बड़े संकट से जूझ रही है, आसान बात नहीं है। ऐसा इसलिए कि आपकी क्षमताएं चुनौतियों से कहीं ज्यादा बड़ी हैं। इस समय प्रोबल्म्स से ज्यादा आपका मकसद महत्वपूर्ण होना चाहिए। मुझे भरोसा है कि आप अपनी स्किल, अपने टैलेंट, अपने प्रोफेशनलिज्म से आत्मनिर्भर भारत की बड़ी ताकत बनके उभरेंगे।

pm modi
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned