Raksha Bandhan 2020 : इस बार बन रहा विशेष संयोग, जानिए शुभ मुहूर्त का सही समय

  • कल भद्रा नक्षत्र ( Bhadra Nakshatra ) सुबह 9:29 बजे तक रहेगी। इसमें शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है। इसलिए तब तक राखी ( Rakhi ) बांधने का काम न करें।
  • रक्षाबंधन ( Raksha Bandhan ) के लिए सुबह 9:30 बजे से रात्रि 9:14 तक विशेष मुहूर्त ( Special time ) रहेगा।

नई दिल्ली। साल 2020 का रक्षाबंधन ( Raksha Bandhan 2020 ) कल है। इस बार लंबे अरसे बाद रक्षाबंधन ( Raksha bandhan ) के दिन विशेष संयोग बन रहा है। कल श्रावण माह का आखिरी सोमवार व पूर्णिमा भी है। 3 अगस्त को राखी ( Rakhi ) बांधने का उत्तम संयोग ( Special Time ) और कई शुभ मुहूर्त हैं। इसलिए बहनें इस बात से चिंता मुक्त रहें कि राखी बांधने का सही समय एक ही है। आइए हम आपको बताते हैं रक्षाबंधन का सही मुहूर्त ( Raksha Bandhan's right time ) और महासंयोग के बारे में पूरी जानकारी।

कल यानि श्रावण का आखिरी सोमवार और पूर्णिमा तिथि है। तीन अगस्त को सुबह 6:51 बजे से ही सिद्धि योग शुरू हो रहा है। यह योग बहुत फलदाई होता है। इसी प्रकार इस दिन प्रात उत्तराषाढ़ा नक्षत्र 7:18 बजे से श्रवण नक्षत्र रहेगा, जो अति उत्तम है।

Patna : BJP leader की दिनदहाड़े हत्या, मृतक दानापुर MLA के संबंधी

इस बार 29 वर्ष बाद रक्षाबंधन का पर्व श्रावण के पांचवें और अंतिम सोमवार के दिन पड़ रहा है। भद्रा ( Bhadra ) सूर्य की पुत्री हैं और शनि की बहन जो इस बार रक्षाबंधन के दिन सुबह 9:29 बजे तक रहेगी। भद्रा नक्षत्र ( Bhadra Nakshatra ) में शुभ कार्य करना वर्जित माना गया है। इसलिए भद्रा की समाप्ति के बाद ही बहन अपने भाई की कलाई पर रखी बांधें। अगस्त की तीन तारीख को सुबह 7:20 बजे तक उत्तराषाढ़ नक्षत्र है और उसके बाद श्रवण नक्षत्र लग जाएगा।

भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ

ज्योतिषाचायों ( Astrologers ) के मुताबिक दो अगस्त रात्रि 8:36 से तीन अगस्त सुबह 8:31 बजे तक भद्रा काल रहेगा। इसमें राखी बांधना शुभ नहीं माना जाता है। रक्षा बंधन के लिए सुबह 9:30 बजे से रात्रि 9:14 तक विशेष मुहुर्त रहेगा। इस दौरान बहन अपनी भाई को किसी भी समय राखी बांध सकेंगी।

South Delhi : फैशन डिजाइनर ने 4 को बीएमडब्लू से रौंदा, फरीदाबाद से गिरफ्तार, वीडियो वायरल

राशियों ( Zodiac signs ) के हिसाब से बांधे रक्षासूत्र
- कर्क : सफेद, क्रीम धागों से बनी मोतियों वाली राखी,
- सिंह : गोल्डन रंग या पीले, नारंगी राखी।
- कन्या : हरा या चांदी जैसा धागा या राखी बांधे।
- तुला : शुक्र का रंग फिरोजी, सफेद, क्रीम रंग की राखी।
- वृश्चिक : इस राशि के भाई के लिए लाल गुलाबी और चमकीली राखी या धागा चुने।
- धनु : गुरु का पीताम्बरी रंग की पीली रेशमी डोरी।
- मेष : राशि के लोग लाल रंग की राखी बांधें।
- वृषभ : चांदी की या सफेद रंग की।
- मिथुन : हरे धागे या हरे रंग की राखी।
- मकर : ग्रे या नेवी ब्लू रुमाल से सिर ढकें, नीले रंग के मोतियों वाली राखी।
- कुंभ : आसमानी या नीले रंग की डोरी से बनी राखी या डोरी भाग्यशाली रहेगी।
- मीन : लाल, पीली या संतरी रंग की राखी बांधे। शुभ रहेगा।

Show More
Dhirendra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned