जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट, कई जगहों से 17 'स्टिकी' बम बरामद

वाहनों के नीचे स्टिकी बम लगाकर आतंकी बड़ी वारदात को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। घाटी में सीआरपीएफ को सतर्क किया गया।

नई दिल्ली। हाल ही के दिनों में जम्मू एवं कश्मीर में सुरक्षाबलों के लिए 'स्टिकी बम' ( Sticky bomb) का नया खतरा देखने को मिल रहा है। बीते छह माह के दौरान जम्मू कश्मीर पुलिस (Jammu Kashmir Police) और सुरक्षाबलों ने घाटी के अलग-अलग हिस्सों से इस तरह के 17 बम बरामद किए हैं।

ये भी पढ़ें: Covid-19 : 24 घंटे में कोरोना के 35,871 नए मामले आए सामने, 172 की मौत

यह जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियों अलर्ट पर आ गई हैं। सुरक्षा बलों को मिली जानकारी के मुताबिक आतंकी ऐसे बम को अहम वाहनों के नीचे लगाकर बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं।

बीते कुछ दिन पहले सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में स्टिकी बमों को बरामद किया था। ये आतंकियों के पास से मिले थे। ये बेहद छोटे आकार के होते हैं। इस बम में चुंबक या फिर चिपकाने वाला पदार्थ लगाया जाता है। आतंकी इसको वाहन और संवेदनशील जगह पर लगाने की कोशिश करते हैं ताकि बड़ा से बड़ा धमाका हो और घाटी में एक बार फिर दहशत फैले।

घाटी में सीआरपीएफ के डीजी कुलदीप सिंह के अनुसार कुछ आतंकियों के पास से हमने यह बरामद किया है, जिसके बाद हमने अपनी रणनीति तैयार की है। वाहनों की चेकिंग बढ़ाई गई है। इसके साथ फोर्स को घाटियों में तैनात किया गया है। वहां पर मुस्तैद रहने के लिए कह दिया है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned