बेटे ने सेवानिवृत्त न्यायाधीश पिता व मां को घर से निकाला

  • हाईकोर्ट ने कहा- जिला मजिस्ट्रेट दो माह में मामले का निपटारा कराएं
  • इलाहाबाद हाईकोर्ट में थे नियुक्त, सितंबर 2008 में हाईकोर्ट से सेवानिवृत्त

 

इलाहाबाद हाईकोर्ट के पूर्व न्यायाधीश के बेटे ने माता-पिता को घर से बाहर निकाल दिया। पूर्व न्यायाधीश ने इलाहाबाद हाईकोर्ट में अर्जी लगाई। हाईकोर्ट ने जिला मजिस्ट्रेट को दो माह में इस मामले का हल निकालने का निर्देश दिया है।

न्याय, सुरक्षा की मांग की
यह आदेश न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) अंजनी कुमार व उनकी पत्नी की तरफ से दायर एक रिट याचिका में आया है। उनका आरोप है कि उनके नाम से पंजीकृत घर से बेटे चंदन कुमार ने अवैध रूप से बेदखल कर दिया है। वरिष्ठ नागरिक होने के नाते, उन्होंने उत्तर प्रदेश मेन्टेनंस एंड वेल्फेयर ऑफ पेरेंट्स एंड सीनियर सिटिजन एक्ट 2007 और मेन्टेनंस एंड वेल्फेयर ऑफ पेरेंट्स एंड सीनियर सिटिजन रूल्स 2014 के तहत सुरक्षा की मांग की थी। वह सितंबर 2008 में हाईकोर्ट से सेवानिवृत्त हुए थे।

सभी मुद्दों को ध्यान में रखें
हाईकोर्ट ने कहा है कि इस मामले में याचिकाकर्ताओं व प्रतिवादी का पक्ष सुनने के बाद कानून के अनुसार निपटारा करें। ऐसा करते समय एक सशब्द और तर्कपूर्ण आदेश दिया जाए। इसमें पक्षकारों द्वारा उठाए गए सभी मुद्दों को ध्यान में रखा जाए।

Ramesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned