Super Cyclone :  आज बंगाल की खाड़ी में तबाही मचा सकता है AMPHAN

  • तेज हवा की गति 185 किलोमीटर तक रहने की उम्मीद
  • सुंदरबन क्षेत्र के दीघा और हटिया के बीच लैंड फॉल की आशंका
  • 21 साल पहले ओडिशा में सुपर साइक्लोन से बड़े पैमाने पर हुई थी बर्बादी

नई दिल्ली। खतरनाक और जानलेवा सुपर साइक्लोन ( Super Cyclone ) आज बंगाल की खाड़ी में सुंदरबन क्षेत्र में दीघा पश्चिम बंगाल और हटिया बांग्लादेश के बीच लैंडफॉल बना सकता है। यह तूफान बुधवार दोपहर या शाम तक तबाही मचा सकता है। इसके साथ ही भारी बारिश और तेज हवा चलने की भी आशंका जताई गई है। तेज हवा की गति 155 से 165 किलोमीटर से लेकर अधिकतम 185 किलोमीटर तक रहने की उम्मीद है।

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय मोहापात्रा ने बताया कि 1999 के बाद अम्फान ( Amphan ) पहला सुपर साइक्लोन है। 1999 में ओडिशा में फानी नाम से सुपर साइक्लोन आया था जिसने 21 साल पहले भारी तबाही मचाई थी। इस बार अम्फान के खतरनाक और संभावित नुकसान को देखते हुए पश्चिम बंगाल, ओडिशा सरकार और एनडीआरएफ की टीमें बड़े पैमाने पर बचाव कार्य मे जुटी है। मोहापात्रा ने बताया कि यह तूफान बड़े पैमाने पर पेड़ों और घरों सहित जानमाल के लिए विनाशकारी साबित हो सकता है ।

20 मई को प्रचंड गति से पश्चिम बंगाल पहुंचेगा ‘अम्फान’, दोहरा सकती है 1999 की तबाही

बता दें कि सुपर साइक्लोन अम्फान ने बंगाल की खाड़ी में सोमवार को ही दस्तक दे दी थी। यह मंगलवार को तेज हवा के साथ गहरे समुद्री इलाकों की ओर बढ़ता गया। इसके बाद इसकी रफ्तार कम हो गई। बुधवार को यह सुंदरबन इलाके में लैंडफॉल बना सकता हैं। ऐसा होने पर भारी तबाही की आशंका है। सुपर साइक्लोन की गति 220 किलोमीटर तक होने की आशंका है। 160 से 220 किलोमीटर की गति को काफी खतरनाक माना होता है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए पश्चिम बंगाल और ओडिशा सरकार एनडीआरएफ के तालमेल प्रभावित इलाकों में राहत कार्य में जुटी है ताकि कम से कम नुकसान हो सके।

बुलबुल के रास्ते आ रहा AMPHAN, बंगाल के दीघा और हटिया तट से टकराने के बाद मचाएगा तूफान

पश्चिम बंगाल के कोस्टल इलाके से से 3 लाख लोगों को सुरक्षित इलाकों में शिफ्ट किया गया है। इनमें से 67 फीसदी लोग दक्षिण 24 परगना और उत्तरी 24 परगना से हैं। कोलकाता नगर निगम ने पूर्वी और पश्चिमी मेदिनीपुर के लोगों को स्कूलों को खाली कराकर आपात व्यवस्था के तहत शिफ्ट कराया है।

दूसरी तरफ ओडिशा में नवीन पटनायक सरकार ने मंगलवार को रेकलेस इवैकुएशन अभियान के तहत लोगों को सुरक्षित क्षेत्र में शिफ्ट किया है।

इससे पहले सुपर साइक्लोन अम्फान सोमवार और मंगलवार को सुपर साइक्लोन में बदला। गहरे समुद्र में हवा की गति 220 किलोमीटर से 240 किलोमीटर रही। बुधवार दोपहर या शाम तक यह सुंदरवन क्षेत्र में लैंड फॉल ( Land Fall ) बना सकता है। इस तूफान को विशाखापट्टनम डॉप्लर वेदर रडार द्वारा लगातार ट्रैक किया जा रहा है। तूफान कोस्टल इलाके में तेज हवा के साथ भारी बारिश को जन्म दे सकता है। इस दौरान हवा की गति 155 से 165 किलोमटीर और अधिकतम 185 किलोमीटर रहने की उम्मीद है।

पश्चिम बंगाल के प्रभावित जिले

पूर्वी और पश्चिम मेदिनीपुर, दक्षिण और उत्तर 24 परगना, हावड़ा, हूगली, कोलकाता और असपास का एरिया। इस इलाके में चार से 5 मीटर का ज्वार भाटा देखने को मिल सकता है। लैंडफॉल के समय पूर्वी मेदिनीपुर में लैंडफॉल बन सकता है।

ओडिशा के प्रभावित जिले

जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, भद्रक, बालासोर, जाजपुर, मयूरभंज और आसपास का क्षेत्र।

Show More
Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned