खुद को कभी माफ नहीं कर सकेंगे ट्रंप!

Highlights.

- अंतिम दिन 100 लोगों को क्षमादान देने की योजना

- कैपिटल हिल्स व रूसी मदद मामलों में खुद को भी माफ करने पर चल रहा विचार

- 20 को सीनेट में होनी है ट्रंप के खिलाफ महाभियोग पर सुनवाई

 

वाशिंगटन.

अपने कार्यकाल के अंतिम दिन मंगलवार यानि 19 जनवरी को अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप शायद ही खुद को क्षमादान देंगे। अपने कार्यकाल के आखिरी दिन राष्ट्रपति ट्रंप 100 लोगों को माफी (क्षमादान) देने की योजना बना रहे हैं। ट्रंप की क्षमादान लिस्ट में सफेदपोश अपराधी और दूसरे क्रिमिनल्स शामिल हैं।

हालांकि, अभी तक ये साफ नहीं हो पाया है कि क्या राष्ट्रपति कैपिटल हिल हिंसा के लिए खुद को भी माफ करेंगे। व्हाइट हाउस सूत्रों के हवाले से अमरीकी न्यूज चैनल सीएनएन ने दावा किया है, कि ट्रंप की क्षमादान योजना के लिए अपराधियों की लिस्ट तैयार की जा रही है। जिसमें पहले उन्होंने खुद को रखने का भी मन बनाया था।

सलाहकारों की सलाह पर टाला फैसला
व्हाइट हाउस के सूत्रों के मुताबिक, पहले राष्ट्रपति ट्रंप ने खुद को भी माफ करने की योजना बनाई थी। जिसके लिए उन्होंने अपने सलाहकारों के साथ बैठक भी की। ट्रंप ने अपने सलाहकारों को बताया कि वो अगर खुद को माफ कर देंगे तो भविष्य में उनपर खतरा नहीं रहेगा। जिस पर उनके सलाहकारों ने उन्हें समझाया कि अगर वो खुद को क्षमा करते हैं तो वो दोषी की तरह लगेंगे। क्योंकि, माफ उसे ही किया जाता है जिसने गलती की हो। ट्रंप के सहयोगियों ने उन्हें ये भी बताया कि अगर वो खुद को माफ करते हैं तो वो अमरीकी कानून और संविधान के खिलाफ होगा।

रूस से मदद लेने का भी आरोप
दरअसल, ट्रंप पर पिछले चुनाव में रूस की खुफिया एजेंसी से मदद लेने का भी आरोप है, और ट्रंप चाह रहे थे कि वो उसके लिए खुद को बतौर राष्ट्रपति माफी दे दें। हालांकि, अभी कोई नहीं जान रहा है कि ट्रंप क्षमादान योजना को लेकर क्या प्लान बनाते हैं या फिर क्या वो खुद को भी माफ कर लेंगे। ट्रंप के क्षमादान लिस्ट में उनके सहयोगी और उनके विवादित सहयोगियों के रिश्तेदारों को रखा गया है। यानि, पद से जाते-जाते ट्रंप अपने सहयोगियों को माफ करके जाएंगे।

हो सकते हैं गिरफ्तार!
6 जनवरी को कैपिटल हिल हिंसा के बाद ट्रंप पर अपने समर्थकों को भडक़ाने का आरोप लगा। इसके बाद ट्रंप अमरीका के ऐसे पहले राष्ट्रपति बन गये जिनके खिलाफ एक ही कार्यकाल में दो बार महाभियोग प्रस्ताव पास किया गया। अब इस प्रस्ताव को सीनेट भेजा जाएगा। सीनेट में 20 जनवरी को ही ट्रंप के खिलाफ सुनवाई होने वाली है। सबसे खास बात ये है कि अब सीनेट की सुनवाई की अध्यक्षता अमरीका की नई उपराष्ट्रपति कमला हैरिस करेंगी। हालांकि, उनकी पार्टी के पास ट्रंप को दोषी ठहराने जितना बहुमत नहीं है। फिर भी अगर ट्रंप दोषी पाए जाते हैं, तो उनकी गिरफ्तारी भी हो सकती है।

20 को छोड़ेगे व्हाइट हाउस
19 जनवरी ट्रंप के कार्यकाल का आखिरी दिन है, उनका पूरा दिन सरकारी कामकाजों में व्यस्त रहेगा, लेकिन वह नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे। बुधवार सुबह वह पॉम बीच पर बने अपने रिजॉर्ट चले जाएंगे। राष्ट्रपति के तौर पर उपनी यह आखिरी उड़ान होगी। बुधवार सुबह ट्रंप का कार्यकाल खत्म हो जाएगा।

Donald Trump
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned