भारी बारिश से फिर तरबतर होंगे कई राज्य, इन इलाकों में जमकर बरसेंगे मेघा

3, 4 व 5 अगस्त को उत्तराखंड के विभिन्न क्षेत्रों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है

नई दिल्ली। देश के कई राज्यों में मानसून कमजोर पड़ता नजर आ रहा है तो कई राज्य अभी भी सक्रिय है। मानसून की अक्षीय रेखा उत्तरी पंजाब से पूर्व उत्तर प्रदेश में बने निम्न दबाव के क्षेत्र तक जा रही है। जिससे पूर्व और मध्य उत्तर प्रदेश के जगहों में भी मध्यम से भारी बारिश होने का अनुमान लगाया जा रहा है। वहीं बिहार और झारखंड में रांची, जमशेदपुर, भागलपुर जैसे शहरों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई जा रही है। मौसम पर नजर रखने वाली स्काईमेट के अनुसार पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा में भी बारिश हो सकती है। आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश के बारिश में कमी की उम्मीद है जिसकी वजह से बाढ़ की स्थिति में सुधार आएगा। पूर्वोत्तर भारत में भी अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। मध्य भारत की बात करें तो पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश और उत्तर छत्तीसगढ़ में मध्यम बारिश हो सकती है, वही शेष छत्तीसगढ़, विदर्भ, मध्य महाराष्ट्र और मुंबई सहित कोंकण और गोवा में बारिश हलकी रहेगी। हालांकि, राजस्थान, गुजरात और मराठवाड़ा में मौसम शुष्क रहेगा।

पाकिस्तान: जनता के बीच पीएम पद की शपथ नहीं ले पाएंगे इमरान खान, प्रेसिडेंट हाउस में होगा कार्यक्रम

 

rain

अगरतला दौरे पर जापानी दूतावास की टीम, बांस से बदलेगा पूर्वोत्तर भारत की तस्‍वीर


उत्तराखंड के लिए अलर्ट जारी
3, 4 व 5 अगस्त को प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के भीतर कुमाऊं में भारी बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है। से देखते हुए जिले के सभी एसडीएम, राजस्व, ग्राम पंचायत व विकास अधिकारियों समेत आपदा प्रबंधन सिस्टम से जुड़े विभागीय अधिकारियों को अलर्ट रहने को कहा गया है। बता दें कि बुधवार को राजधानी देहरादून में झमाझम बारिश हुई, जिसने तापमान में ठंडक का अहसास कराया। पिछले 24 घंटों की बता करें तो उत्तर प्रदेश, उत्तर ओडिशा, पश्चिम बंगाल और सिक्किम के कुछ हिस्सों में मानसून ज़ोरों पर रहा। इस बीच, केरल, असम और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में सक्रिय मानसून की स्थिति देखी गई।

 

rain


6 अगस्त को बंगाल की खाड़ी में उठ सकता है तूफान
मौसम विभाग ने अगामी 6 अगस्त को लेकर भारी चेतावनी जारी की है। विभाग के मुताबिक, 6 अगस्त को बंगाल की खाड़ी से तूफान उठ सकता है। इस तूफान का बिहार के साथ-साथ हिमालय के क्षेत्रों में बड़ा असर देखने को मिलने की संभावाना है। मौसम विभाग के अनुसार, पूर्वी उत्तर प्रदेश से बिहार और असम तक मानसून के सक्रिय रहने के कारण पटना के आसपास और गंगा के तटीय क्षेत्र में कुछ जगहों पर भारी बारिश हो सकती है। गौरतलब है कि मंगलवार को पटना को छोड़कर राज्य के अन्य हिस्सों में बारिश हुई। राजधानी के आसपास के इलाके में पूरे दिन आकाश में बादल छाए रहने के कारण गर्मी से राहत मिली। मौसम विभाग के अनुसार मंगलवार को पूर्णिया में सबसे ज्यादा 13 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई। वहीं, सोमवार की रात गया में 18.8 एमएम और भागलपुर में 3.6 एमएम वर्षा हुई। फॉरबिसगंज में 8 एमएम, खगडिया में 7 एमएम, मधुबनी में 6 एमएम, सहरसा, सीतामढ़ी, किशनगंज और सुपौल में 5-5 एमएम वर्षा रिकॉर्ड की गई।

Show More
Saif Ur Rehman
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned