कोरोना को लेकर ट्रंप ने ये क्या कह दिया कि दुनिया के वैज्ञानिक रह गए अवाक

अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप अक्सर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। हाल के दिनों में वह कोरोना वायरस व चीन को लेकर कुछ ऐसा ही किया। जब दुनिया कई बार हैरत में पड़ गई। इसबार भी उन्होंने कोरोना को लेकर कुछ ऐसा ही दावा कर दिया, जब पूरी दुनिया इस वायरस से संघर्ष कर रही है।

 

 

वाशिंगटन. अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने दावा किया है कि बिना वैक्सीन के ही कोरोना वायरस खत्म हो जाएगा। अमरीका में अभी करीब 95 हजार से अधिक मौतें हो सकती हैं। उन्होंने ये बातें वाइट हाउस में रिपब्लिकन के सांसदों से बातचीत के दौरान कहीं। उनका यह बयान ऐसे समय में आया जब अमरीका में बेरोजगारी दर 3.5 प्रतिशत से बढ़कर 14.5 प्रतिशत पर पहुंच चुकी है। अप्रेल माह में करीब दो करोड़ लोग अपनी नौकरी खो चुके हैं।

और वायरस खत्म हो गए

राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि दुनिया में पहले भी ऐसी और बीमारियां आईं और बिना वैक्सीन के ही खत्म हो गईं। इसमें कुछ वायरस और फ्लू हैं जो आए और एक समय के बाद चले गए। इससे पहले कई वायरस के लिए वैक्सीन ईजाद नहीं की जा सकी और वायरस खत्म हो गए। दोबारा फिर कभी नहीं आए।

पत्रकारों के सवाल पर दी सफाई
पत्रकारों ने जब वैक्सीन की जरूरत नहीं होने के दावे पर पूछा तो ट्रंप ने जवाब दिया कि 'मैं सिर्फ डॉक्टरों की बात पर भरोसा करता हूं। मेरे कहने का अर्थ कोरोना वायरस धीरे-धीरे खत्म हो जाएगा। न कि इसी साल यह खत्म हो जाएगा। वैक्सीन के सवाल पर कहा कि यदि वैक्सीन बन जाती तो यह हमारे लिए ज्यादा मददगार होती।

बिना वैक्सीन कोरोना खत्म नहीं हो सकता : फाउसी
वाइट हाउस में कोरोना वायरस टास्क फोर्स में महत्वपूर्ण जिम्मेदारी देख रहे नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज के निदेशक डॉ. एंटनी फाउसी ने कहा है कि जब तक प्रभावी वैक्सीन नहीं बन जाती है तब तक कोरोना का खत्म होना संभव नहीं है। इसकी संक्रामकता दर अधिक है, इसलिए स्वत: खत्म होने की संभावना नहीं है।

Coronavirus treatment COVID-19 Donald Trump
Ramesh Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned