Facebook डाटा लीक, अमेज़न क्लाउड सर्वर पर करीब 54 करोड़ यूजर्स का डाटा हुआ सार्वजनिक

  • साइबर स्पेस फर्म अपगार्ड ने सबसे पहले दी लीक की जानकारी
  • साल 2016 में भी सामने आया था Facebook डाटा लीक का मामला

By: Vishal Upadhayay

Updated: 04 Apr 2019, 12:14 PM IST

नई दिल्ली: सोशल साइट Facebook के बार फिर से डाटा लीक को लेकर ख़बरों में छाया हुआ है। रिसर्चर्स की माने तो फेसबुक के यूजर्स के डाटा का एक बहुत बड़ा हिस्सा अमेज़न ( Amazon ) के क्लाउड कंप्यूटिंग सर्वर पर सार्वजनिक हो गया है। इस डाटा को कई भी आसानी से डाउनलोड भी कर सकता है।

यह भी पढ़ें: भारत में 9 अप्रैल को लॉन्च होंगे Huawei P30 Pro और P30 Lite स्मार्टफोन, जानें कीमत

ऑस्ट्रेलिया की साइबर स्पेस फर्म अपगार्ड ( UpGuard ) ने सबसे पहले फेसबुक के इस डाटा लीक की जानकारी दी है। अपगार्ड की माने तो फेसबुक के लिए काम करने वाली दो थर्ड पार्टी कंपनी ने यूजर्स का डाटा अमेज़न के सर्वर पर स्टोर कर दिया है। इसमें करीब 54 करोड़ फेसबुक यूजर्स का डाटा थर्ड पार्टी पब्लिक सर्वर में सेव हो गया है। हालांकि, अभी यह जानकारी सामने नहीं आई है कि लीक हुई यूजर्स के इन डाटा का मिस यूज किया गया है या नहीं।

यह भी पढ़ें: iPhone XR की कीमत में हुई भारी कटौती, जानें ऑफर

इस मामले पर फेसबुक के प्रवक्ता ने ये प्रतिक्रिया दी है कि , 'यूजर्स के डेटा को पब्लिक डेटाबेस पर स्टोर करना फेसबुक की पॉलिसी के खिलाफ है। इस बारे में पता चलते ही हमने ऐमजॉन के साथ मिलकर इसे हटाने पर काम किया।' हालांकि, अभी तक अमेज़न की तरफ से इस मामले पर किसी भी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई है।

यह भी पढ़ें: ट्रिपल रियर कैमरे के साथ Tecno Camon i4 स्मार्टफोन भारत में हुआ लॉन्च, जानें कीमत

मालूम हो इससे पहले भी फेसबुक पर साल 2016 में कैम्ब्रिज एनालिटिका तक निजी डाटा पहुंचाए जाने पर आरोप लगे थे। इसके बाद कंपनी ने अपने यूजर्स के डाटा की सुरक्षा को लेकर अपने प्लेटफॉर्म पर कई तरह के बदलाव भी किए थे। इसके अलावा भी पिछले साल करीब 5 करोड़ यूजर्स के डाटा की लीक की ख़बर आमने आई थी।

Show More
Vishal Upadhayay
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned