FaceBook और Instagram से क्यों हटाए गए 22 लाख से अधिक विज्ञापन, जानिए असली वजह

क्लेग ने इंटरव्यू में यह भी कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए जो कुछ किया है वह अभूतपूर्व है। फेसबुक 2016 की तुलना में आज बेहतर तरीके तैयार है।

By: Mahendra Yadav

Published: 18 Oct 2020, 07:37 PM IST

अमरीकी चुनावों से पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स भी संदिग्ध गतिविधियों को लेकर सक्रिय हो गए हैं। इसी क्रम में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (FaceBook) फेसबुक और (Instagram) इंस्टाग्राम पर चुनाव में बाधा डालने वाले विज्ञापनों को हटा दिया गया है। FaceBook और Instagram से करीब 22 लाख से अधिक विज्ञापनों और 120,000 पोस्ट को कंपनी ने हटा लिया है। यह कदम इसलिए उठाया गया है क्योकि इन विज्ञापनों के जरिए 3 नवंबर को होने वाले अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव में बाधा डालने का प्रयास किया गया था। इस बात की जानकारी फेसबुक के प्रमुख निक क्लेग ने दी।

15 करोड़ फर्जी खबरों पर चेतावनी पोस्ट
एक इंटरव्यू में क्लेग ने बताया कि कंपनी ने तीसरे पक्ष स्वतंत्र मीडिया द्वारा सत्यापित 15 करोड़ फर्जी खबरों पर चेतावनी पोस्ट की। साथ ही उन्होंने कहा कि हम फुलप्रूफ नहीं हैं और सभी गलत जानकारी या घृणित सामग्री को कभी भी नहीं हटाएंगे या पहचान नहीं करेंगे, लेकिन हमारी चुनावी रणनीति, हमारी टीम और हमारी तकनीकें लगातार सुधार कर रही हैं।

यह भी पढ़ें—ये 5 फीचर्स आपके स्मार्टफोन को बना देंगे और भी ज्यादा स्मार्ट और कूल

facebook_2.png

पिछले महीने दिया था हिंट
क्लेग ने इंटरव्यू में यह भी कहा कि अमरीकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए जो कुछ किया है वह अभूतपूर्व है। फेसबुक 2016 की तुलना में आज बेहतर तरीके तैयार है। बता दें कि क्लेग ने पिछले महीने ऐसी पोस्ट और विज्ञापनों पर कार्यवाही के हिंट दिए थे। पिछले महीने क्लेग ने कहा था कि अमरीका में नवंबर के चुनावों में अराजकता या हिंसक विरोध प्रदर्शन के मामले में सामग्री को प्रतिबंधित करने के लिए फेसबुक कड़े कदम उठा रहा है।

यह भी पढ़ें—Samsung ने चार्जर की फोटो पोस्ट कर Apple पर कसा तंज, लिखी ऐसी बात

एफबीआई,ट्विटर और यूट्यूब के साथ सहयोग
क्लेग ने बताया कि करीब 35,000 कर्मचारी फेसबुक प्लेटफार्म की सुरक्षा का ध्यान रखते हैं और चुनाव में योगदान करते हैं। फेसबुक ने फ्रांस में 70 स्पेशलाइज्ड मीडिया के साथ साझेदारी की है। खतरों की पहचान करने के लिए एफबीआई, ट्विटर और यूट्यूब के साथ सहयोग किया गया है।

Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned