आपका खोया फोन ढूंढ निकालेगा सैमसंग का यह अनोखा एप, जानिए कैसे करता है काम

इस एप का नाम SmartThings Find है। यह एप बिना इंटरनेट कनेक्शन और बिना मोबाइल नेटवर्क के आपका खोश हुआ गैलेक्सी स्मार्टफोन ढूंढ निकालेगा।

By: Mahendra Yadav

Published: 31 Oct 2020, 04:52 PM IST

जब किसी का मोबाइल खो जाता है तो उसे ढूंढना बड़ा मुश्किल होता है, लेकिन अब अगर किसी का सैमसंग गैलेक्सी स्मार्टफोन, गैलेक्सी वॉच, टैबलेट या इयरबड्स खो जाएं तो उन्हें ढूंढने में आसानी होगी। दरअसल, Samsung ने एक एप जारी किया है। इस एप का नाम SmartThings Find है। यह एप बिना इंटरनेट कनेक्शन और बिना मोबाइल नेटवर्क के आपका खोश हुआ गैलेक्सी स्मार्टफोन ढूंढ निकालेगा। तो जानते हैं कि यह एप कैसे काम करेगा और किस तरह से आपके खोये हुए फोन को ढूंढेगा।

इस टेक्नोलॉजी से खोजेगा डिवाइस
सैमसंग ने इस एप के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि स्मार्ट थिंग्स फाइंड एप में ब्लूटूथ लो एनर्जी (BLE) और अल्ट्रा-वाइडबैंड टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया है। इस टेक्नोलॉजी से यह एप खोए हुए गैलेक्सी डिवाइस को लोकेट करेगा। डिवाइस को लोकट करने के बाद यह एप यूजर को मैप और साउंड की जरिए खोये हुए डिवाइस तक पहुंचा देगा।

यह भी पढ़ें—डेटा चुराते हैं बच्चों के ये तीन एप्स, अगर आपके मोबाइल में हैं तो तुरंत करें डिलीट

इन डिवाइस में करेगा काम
सैमसंग का यह अनोखा एप एंड्रॉयड 8 और उससे बाद के ओएस पर काम करने वाले गैलेक्सी स्मार्टफोन्स और टैबलेट को ही सपोर्ट करता है। इसके अलावा यह उन गैलेक्सी वॉचेज में भी काम करेगा, जिनमें Tizen 5.5 या उससे बाद के ओएस होंगे। बताया जा रहा है कि गैलेक्सी बड्स प्लस और गैलेक्सी बड्स लाइव को इस फीचर के लिए ओएस अपडेट मिलना शुरू हो चुका है।

samsung_app.png

BLE सिग्नल करेगा ढूंढने में मदद
सैमसंग ने इस एप की डिटेल के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि खोये हुए डिवाइस के 30 मिनट तक ऑफलाइन रहने के बाद उसमें से BLE सिग्नल निकलने लगते हैं। ये सिग्नल दूसरे डिवाइस रिसीव कर सकते हैं। इसके बाद स्मार्टथिंग्स एप को उस सिग्नल के साथ यूज किया जा सकता है, जिसे आप खोए हुए डिवाइस को सर्च करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें—बिना इंटरनेट भी यूज कर सकते हैं Google Maps, फॉलो करने होंगे ये स्टेप

सेफ रहेगा यूजर का डेटा
खोये हुए डिवाइस के नजदीक पहुंचने के बाद आप चाहें को उस डिवाइस को 'रिंग' करा सकते हैं। इसके अलावा AR आधारित सर्च के जरिए भी डिवाइस तक पहुंच सकते हैं। आपके डिवाइस के डेटा को कोई नुकसान नहीं होगा। इसमें यूजर का डेटा एन्क्रिप्शन के कारण पूरी तरह सेफ रहता है।

Show More
Mahendra Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned