scriptअगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी, यूपी के इन जिलों में बाढ़ जैसे हालात, CM योगी ने मांगी नुकसान की रिपोर्ट | Flood like situation in these districts of UP | Patrika News
मुरादाबाद

अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी, यूपी के इन जिलों में बाढ़ जैसे हालात, CM योगी ने मांगी नुकसान की रिपोर्ट

UP Rain Today: नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद अचानक पांच लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़ने से उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती और कुशीनगर में बाढ़ जैसी स्थिति उतपन्न हो गई है। श्रावस्ती में 11 और कुशीनगर में 76 लोगों को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बाढ़ से सुरक्षित निकाला गया।

मुरादाबादJul 09, 2024 / 07:49 am

Mohd Danish

Flood like situation in these districts of UP

UP Rain Alert

UP Rain Alert: उत्तर प्रदेश में मॉनसून के सक्रिय होते ही अच्छी बारिश हो रही है। हालात ये हैं कि श्रावस्ती, कुशीनगर, पीलीभीत और लखीमपुर जिलों में बाढ़ जैसे हालत हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बाढ़ प्रभावित जिलों के डीएम से 24 घंटे के भीतर नुकसान की रिपोर्ट सौंपने को कहा है। उधर मौसम विभाग की चेतावनी से भी अधिकारियों के हाथ-पैर फूल गए हैं। मौसम विभाग के 9 और 10 जुलाई को कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।
नेपाल में मूसलाधार बारिश के बाद अचानक पांच लाख क्यूसेक से अधिक पानी छोड़ने से उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती और कुशीनगर में बाढ़ जैसी स्थिति उतपन्न हो गई है। श्रावस्ती में 11 और कुशीनगर में 76 लोगों को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बाढ़ से सुरक्षित निकाला गया। सीएम ने दोनों जिलों के डीएम को क्षतिग्रस्त फसल का 24 घंटे के अंदर सर्वे कर रिपोर्ट शासन को भेजने को कहा है।

लखीमपुर खीरी में 86 गांवों में बाढ़ का खतरा

लखीमपुर खीरी में शारदा और घाघरा नदी अपने उफान पर है, जिसके चलते पलिया, गोला गोकर्णनाथ निघासन, धोराहरा और सदर तहसील के लगभग 86 गांव में बाढ़ का खतरा बना हुआ है। हजारों एकड़ फसल जल मग्न हो गई है। लखीमपुर खीरी के पलिया और गोला गोकर्णनाथ तहसीलों में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। आज रात 1:00 बजे बनबसा बैराज से 3.25 लाख क्यूसेक पानी का डिस्चार्ज हो रहा है जो दोपहर तक पलिया और गोला तहसील से जुड़े गांवों और कस्बा तक पहुंचेगा।
आशंका है यह पानी शारदा नदी के किनारे बसे गांवों में भारी नुकसान पहुंचा सकता है और दूसरी तरफ 36 घंटे से हो रही लगातार बारिश के चलते दोनों तहसीलों में हालात खराब है। शारदा नदी के उफान से पलिया कस्बा टापू बना हुआ है और सबसे ज्यादा खतरा मैलानी से नानपारा जाने वाले रेलवे ट्रैक को है। शारदा नदी इस समय ट्रैक के बिल्कुल किनारे पहुंच गई है और तेजी से कटान कर रही है। एसडीएम कार्तिकेय सिंह प्रशासन की टीम के साथ पहुंचे और लोगों को बाढ़ राहत किट प्रदान की। साथ ही लोगों से सतर्क रहने के लिए दिशा निर्देश दिए। इलाकों में एनडीआरएफ की टीमों को तैनात कर दिया गया है।

Hindi News/ Moradabad / अगले दो दिन भारी बारिश की चेतावनी, यूपी के इन जिलों में बाढ़ जैसे हालात, CM योगी ने मांगी नुकसान की रिपोर्ट

ट्रेंडिंग वीडियो