scriptINS Vikrant Cheating Case Bombay High Court grants anticipatory bail to BJP leader Kirit Somaiya and his son Neil Somaiya | INS Vikrant Cheating Case: बीजेपी नेता किरीट सोमैया और उनके बेटे नील को मिली बेल, जानें क्या है आईएनएस विक्रांत चीटिंग मामला | Patrika News

INS Vikrant Cheating Case: बीजेपी नेता किरीट सोमैया और उनके बेटे नील को मिली बेल, जानें क्या है आईएनएस विक्रांत चीटिंग मामला

INS Vikrant Cheating Case: बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को आईएनएस विक्रांत से संबंधित धन के कथित गलत उपयोग के मामले में किरीट सोमैया और उनके बेटे नील सोमैया को अग्रिम जमानत दे दी। मुंबई पुलिस ने कोर्ट को सूचित किया है कि उसे इस मामले में किरीट सोमैया के खिलाफ अभी तक कोई सबूत नहीं मिला है।

मुंबई

Published: August 10, 2022 02:54:00 pm

INS Vikrant Cheating Case Kirit Somaiya Neil Somaiya: महाराष्‍ट्र में बीजेपी के पूर्व सांसद किरीट सोमैया और उनके बेटे नील सोमैया को भारतीय नौसेना के विमान वाहक पोत- आईएनएस विक्रांत मामले में राहत मिली है। बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने 57 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी के इस मामले में बीजेपी नेता और उनके बेटे को गिरफ्तारी से अंतरिम संरक्षण दिया है।
INS Vikrant Cheating Case Kirit Somaiya Neil Somaiya
आईएनएस विक्रांत धोखाधड़ी मामला क्या है?
मिली जानकरी के मुताबिक, बॉम्बे हाईकोर्ट ने बुधवार को आईएनएस विक्रांत से संबंधित धन के कथित गलत उपयोग के मामले में किरीट सोमैया और उनके बेटे नील सोमैया को अग्रिम जमानत दे दी। मुंबई पुलिस ने कोर्ट को सूचित किया है कि उसे इस मामले में किरीट सोमैया के खिलाफ अभी तक कोई सबूत नहीं मिला है। यह शिकायत 2022 में कथित रूप से 2013 में एकत्र किए गए धन से जुड़ी है।
यह भी पढ़ें

Maharashtra: कानून तोड़ने का अधिकार सिर्फ हमें है... केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अफसरों को फटकारा


क्या है आईएनएस विक्रांत धोखाधड़ी मामला

किरीट और उनके बेटे नील सोमैया पर आरोप है कि उन्होंने नौ साल पहले, सेवामुक्त हो चुके विमानवाहक युद्धपोत आईएनएस विक्रांत को विखंडन से बचाने और उसे संग्रहालय में तब्दील करने के नाम पर एकत्र किये गए 57 करोड़ रुपये का दुरुपयोग किया है।
इस मुहीम में दो हजार रुपये दान देने वाले एक शिकायतकर्ता का कहना है कि वर्ष 2014 में उसे पता चला कि विक्रांत को तोड़ दिया गया और इस विमानवाहक पोत की 60 करोड़ रुपये में निलामी की गई।
इसी साल अप्रैल महीने में सोमैया को राहत देते हुए हाईकोर्ट ने कहा था कि एफआईआर इंगित करती है कि आरोप मुख्य रूप से मीडिया रिपोर्टों पर आधारित हैं। हालांकि 57 करोड़ रुपये के गबन के विशिष्ट आरोप हैं, लेकिन यह बताने के लिए कोई प्रूफ नहीं है कि शिकायतकर्ता किस आधार पर इस आंकड़े तक पहुंचा है। हालांकि, कोर्ट ने सोमैया से जांच में पूरा सहयोग करने का निर्देश दिया था।

क्या है आरोप?

वर्ष 2014 में सेवा से बाहर हो चुके विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रांत को तोड़े जाने से बचाने के लिए कथित तौर पर क्राउड फंडिंग से 57 करोड़ रुपये से एकत्र किये गए थे. कहा जा रहा है कि इसी पैसे का सोमैया ने गलत इस्तेमाल किया। सेना के एक पूर्व अधिकारी की शिकायत के आधार पर पिता-पुत्र के खिलाफ मुंबई के ट्रॉम्बे पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में गिरफ्तारी से बचने के लिए दोनों ने अग्रिम जमानत याचिका कोर्ट में दायर की थी।
दरअसल तब बीजेपी ने आईएनएस विक्रांत को बचाने के लिए मुहिम चलाई थी और लोगों से पैसा जमा कर उसे राजभवन में देने की बात कही थी। लेकिन सोमैया की तरफ से कथित तौर पर 57 करोड़ रुपये की राशि राज्यपाल के पास जमा नहीं कराई गई।

किरीट सोमैया का जवाब?

हालांकि किरीट सोमैया का कहना है कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है और इस तरह का चंदा शिवसेना और कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों द्वारा भी एकत्र किया गया है। वह भी इस अभियान को निजी तौर पर नहीं चला रहे थे, बल्कि यह पार्टी के स्तर पर था। जबकि शिकायत के मुताबिक सोमैया और उनके बेटे नील सोमैया और अन्य ने मुंबई में जगह-जगह दानपत्र लगाकर चंदा एकत्र किया। बता दें कि आईएनएस विक्रांत ने 1961 से लेकर 1997 तक देश की सेवा की।

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गृह मंत्रालय ने PFI को 5 साल के लिए किया बैन, टेरर लिंक के आरोप में RIF सहित 8 अन्य संगठनों पर भी एक्शनसड़क हादसे में साइरस मिस्त्री की मौत को लेकर हुआ बड़ा खुलासा! IRF की रिपोर्ट में सामने आईं बड़ी बातेंदिल्ली शराब नीति मामले में हुई पहली गिरफ्तारी, CBI ने मनीष सिसोदिया के सहयोगी को किया अरेस्टVideo: दिल्ली में खतरे के निशान से ऊपर बढ़ा यमुना का जलस्तर, लोहे वाले पुल से आवगमन हुआ ठपLegends League Cricket 2022: भीलवाड़ा किंग्स ने गुजरात जाइंट्स को 57 रनों से हराया5G in India : PM मोदी India Mobile Congress में 1 अक्टूबर को करेंगे 5G की शुरुआत'हम भी बता देंगे उन्होंने क्या किया है और हमने क्या किया," बिहार के पूर्णिया में अमित शाह की रैली पर बोले नीतीश कुमारगुजरात में चुनावी तैयारियों में जुटा चुनाव आयोग, कहा- 4.83 करोड़ वॉटर्स पंजीकृत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.