सरकारी हिस्सेदारी बेचने के विरोध में एलआईसी कर्मचारी 4 फरवरी को रहेंगे 1 घंटे हड़ताल पर

  • चार फरवरी को एक घंटे की राष्ट्रव्यापी हड़ताल करने की घोषणा
  • सवा 12 बजे से सवा एक बजे तक एक घंटे की हड़ताल करेंगे
  • एलआईसी के विनिवेश के प्रस्ताव को राष्ट्रहित के खिलाफ बताया

By: Saurabh Sharma

Updated: 03 Feb 2020, 10:59 AM IST

नई दिल्ली। भारतीय जीवन बीमा निगम के कर्मचारी केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के उस बजटीय प्रस्ताव के खिलाफ चार फरवरी को एक घंटे की राष्ट्रव्यापी हड़ताल करने की घोषणा की है, जिसमें उन्होंने एलआईसी में सरकार की एक हिस्सेदारी बेचने की बात कही है।

यह भी पढ़ेंः- करीब 90 अंकों तक उछला सेंसेक्स, निफ्टी में 50 अंकों की बढ़त

जीवन बीमा निगम कर्मचारी एसोसिएशन के कोलकाता डिविजन के उपाध्यक्ष प्रदीप मुखर्जी ने आईएएनएस से कहा, "हम मंगलवार को सवा 12 बजे से सवा एक बजे तक एक घंटे की हड़ताल करेंगे। हम उसके बाद अपने सभी कार्यालयों में प्रदर्शन भी आयोजित करेंगे।" उन्होंने कहा, "उसके बाद हम सड़क पर उतरेंगे और इस कदम का विरोध करेंगे। हम सभी सांसदों के पास भी जाएंगे।"

यह भी पढ़ेंः- वित्त वर्ष 2020-21 की दूसरी छमाही में लिस्टेड होगी एलआईसी

एलआईसी के आंशिक विनिवेश के प्रस्ताव को राष्ट्रहित के खिलाफ बताते हुए मुखर्जी ने कहा कि यह कंपनी इस समय पूंजी के मामले में भारत की सबसे बड़ी वित्तीय कंपनी है, जो भारतीय स्टेट बैंक को भी पीछे छोड़ चुकी है। ऑल इंडिया इंश्योरेंस इम्प्लाईज एसोसिएशन ( एआईआईईए ) ने भी सरकार के इस कदम का विरोध करते हुए कहा है कि पहले तीन या चार फरवरी को एक घंटे की हड़ताल की जाएगी। एआईआईईए के महासचिव श्रीकांत मिश्रा ने कहा, "हम इस कदम के खिलाफ हैं। पहले हम तीन या चार फरवरी को एक घंटे की हड़ताल करेंगे, और उसके बाद अपनी आगे के कदम के बारे में निर्णय लेंगे।"

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned