Dial 112 PRV पर बैठकर खिचवाया फोटो और कर दिया वायरल, पुलिस ने देखा तो कर दिया बुरा हाल

Highlights

-मामला थाना सिविल लाइन क्षेत्र का है

-PRV-2203 को 112 पर सूचना मिली थी

-एक महिला के साथ उसके पति व जेठ मारपीट कर रहे हैं

By: Rahul Chauhan

Updated: 02 Aug 2020, 04:33 PM IST

मुजफ्फरनगर। जनपद में ईद के त्यौहार पर तीन युवकों को पुलिस की सरकारी गाड़ी पर बैठकर फोटो खिचवाना और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करना भारी पड़ गया। पुलिस ने तीनों युवकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। दरअसल, पुलिस को डायल 112 पर एक महिला द्वारा सूचना मिली थी कि उसके साथ उसका पति व जेठ मारपीट कर रहे हैं। इसी सूचना पर यूपी डायल 112 पीआरवी संख्या 2203 मौके पर पहुंची। जानकारी के अनुसार पुलिसकर्मी गाड़ी को बाहर खड़ी कर पीड़ित के घर गए तो मौके का फायदा उठाकर मोहल्ले के तीन युवकों ने पीआरवी के बोनट पर बैठकर फोटो खिंचवाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

यह भी पढ़ें: 20 वर्षों से सरकारों से घर मांगते-मांगते मर गया पति, अब महिला और बच्चे घर की लगाए बैठे आस

मामला थाना सिविल लाइन क्षेत्र का है। जहां शनिवार को लगभग 10 बजे थाना सिविल लाईन क्षेत्रान्तर्गत चल रही PRV-2203 को 112 पर सूचना मिली थी कि एक महिला के साथ उसके पति व जेठ मारपीट कर रहे है जिन्होंने महिला को मारपीट कर घायल कर दिया है इसी सूचना पर PRV - 2203 मोहल्ला हाजीपुरा पहुंची पीआरवी पर उस समय केवल 2 कर्मचारी (ड्राईवर एवं 1 आरक्षी) डियूटी पर थे। जिन्होंने गाड़़ी को खडाकर पीड़िता के घर में जाना पडा था।

यह भी पढ़ें: रिटायर्ड फौजी है फैक्ट्री मालिक, दो मजूदरों की मौत होने पर पुलिस ने

इसी दौरान मौके का फायदा उठाकर सरफराज पुत्र शहजाद , मुस्तकीम पुत्र सलीम , मुसैद पुत्र जर्राल निवासी हाजीपुरा थाना सिविल लाईन मुज़फ्फरनगर ने PRV-2203 के बौनट पर बैठकर फोटो खींच लिए और आरोपियों ने पीआरवी बयान पर बैठकर खींचवाए गए इन फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया पुलिस की सरकारी गाड़ी पर शरारती तत्वों के फोटो वायरल होने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया जिसके बाद आनन-फानन में थाना सिविल लाइन पुलिस ने तीनों युवकों को हिरासत में लेकर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned