योगी के उत्तम प्रदेश में एनकाउंटर बेअसर, मनचलों और गुंडों की मौज

योगी  के उत्तम प्रदेश में एनकाउंटर बेअसर, मनचलों और गुंडों की मौज

Iftekhar Ahmed | Publish: Sep, 16 2018 03:40:13 PM (IST) Muzaffarnagar, Uttar Pradesh, India

खुलेआम छेड़-छाड़ और गुंडागर्दी से लोगों में दहशत

मुज़फ्फरनगर. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाने का सपना लोगों को दिखाते हुए नहीं थकते हैं। लेकिन यहां बेटियां बाहर तो बाहर घर में भी सुरक्षित नहीं है। आए दिन कहीं न कहीं से छेड़-छाड़ और रेप की घटनाएं सामने आ ही जाती है। ऐसे ही कुछ शर्मसार करने वाली घटनाएं मुजफ्फरनगर, शामली, बागपत और मेरठ से सामने आई है। ताजा मामला मुजफ्फरनगर का है। यहां एक अस्पताल में ही एक महिला के साथ एक युवक कुछ ऐसा किया कि महिला ने अपना आपा खो दिया। हालांकि, उस शख्स कोइसकी भारी कीमत चुकानी पड़ी। इस शख्स की हरकत के बाद पहले तो पीड़ित महिला ने उसकी चप्पलों से पिटाई शुरू कर दी। जैसे ही महिला ने युवक से मारपीट करना शुरू किया तो वहां मौजूद भीड़ भी आरोपी युवक पर टूट पड़ी और मारपीट करना शुरू कर दिया। इसके बाद आरोपी को पकड़कर लोगों ने पुलिस के हवाले कर दिया। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में एक बार फिर पीड़ित महिला ने युवक की चप्पल से जमकर धुनाई कर दी। इस घटना से जिला अस्पताल में अफरा तफरी मच गई। भीड़ में मौजूद कुछ लोगों ने युवक की पिटाई का सारा वाक्या अपने मोबाइल में कैद कर सोशल मीडिया पर वॉयरल कर दिया। युवक की पिटाई के चलते माहौल बिगड़ता देख पुलिसकर्मी आरोपी युवक को शहर कोतवाली लेजाकर सलाखों के पीछे बंद कर दिया। हालांकि, कोई भी तहरीर किसी की ओर से नहीं आने पर युवक को 151 में जेल भेज दिया । इस मामले में सीओ सिटी हरीश सिंह भदौरिया ने जानकारी देते हुए बताया कि शनिवार को जिला चिकित्सालय से एक सूचना मिली थी कि एक युवक की किसी मामले को लेकर कुछ लोग पिटाई कर रहे हैं। पुलिस मौके पर पहुँची तो छेड़खानी का मामला बताया गया, जोकि सन्दिग्ध प्रतीत हो रहा है। अभी इस मामले में कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है, जिसके चलते युवक को धारा 151 में चालान कर दिया गया है ।

यह भी पढ़ें- ठगी के लिए बनाई कंपनी, सैलरी पर रखे गए लड़के-लड़कियां, जब हुआ खुलासा तो पुलिस भी रह गई सन्न

शामली में मनचलों का किया विरोध तो कर दी ऐसी हालत

छेड़छाड़ की ऐसी ही एक घटना में शामली के महोल्ला रेलपार में आधा दर्जन युवकों ने एक युवक पर चाकू से हमला कर दिया। हमले में घायल युवक का गुनाह सिर्फ इतना था कि उसने युवती से छेड़छाड़ कर रहे युवकों का विरोध किया था। युवक के शोर मचाने पर जब मोहल्लेवासी दौड़े तो हमलावर युवक को मरणासन्न हालत में छोड़कर फरार हो गए। युवक को गंभीर हालत में मेरठ के हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।


यह भी पढ़ेंः एक भाई ने रखी राखी की लाज तो मिला ऐसा फल कि देखने वाले भी कांप उठे

बागपत में खुलेआम तमंचा लेकर युवकों ने दिखाई गुंडागर्दी

सुन्हेडा रेलवे हाल्ट पर पैसेंजर ट्रेन को रोककर कुछ तमन्चाधारी गुंडों द्वारा एक युवक की पिटाई का मामला सामने आया है। बताया जाता है कि दिल्ली से पैसेंजर ट्रेन सहारनपुर जा रही थी। रेल में कुछ लड़कों की एक युवक के साथ किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। आरोपियों ने ट्रेन में से ही अपने साथियों को झगड़े की जानकारी देकर सुन्हेडा हाल्ट पर बुला लिया। बागपत जिले के सुन्हेडा हाल्ट पर जैसे ही ट्रेन रुकी तो आरोपी लड़कों ने युवक को ट्रेन से नीचे उतार लिया और मारपीट शुरू कर दी। आरोपी खुलेआम हाथो में तमंचा लिए थे। बताया जाता है कि इसी मारपीट की वजह से ट्रेन अपने निर्धारित समय से ज्यादा देर तक हाल्ट पर रुकी रही। मारपीट के बाद आरोपी फरार हो गए। यह पूरी घटना किसी यात्री ने अपने मोबाइल में कैद करने के बाद वायरल कर दिया। गौरतलब है कि इस मार्ग पर गुंडों का राज चलता है। दो माह पहले ही ट्रेन में महिला के साथ छेड़छाड़ का वीडियो वायरल हुआ था। हालांकि, तब पुलिस ने मामले को दबा दिया था। लेकिन मीडिया में वीडियो पहुंच जाने के बाद पुलिस हरकत में आई है और युवकों की पहचान में जुटी है। दिल्ली-सहारनपुर रेलवे मार्ग पर इस तरह की घटनाएं आम हो गई हैं। स्टेशनों पर ही नहीं ट्रेन के अंदर भी दबंगई सामने आती है। यहां न तो जीआरपी का किसी को ख़ौफ़ है और न ही बागपत पुलिस का।

यह भी पढ़ेंः योगीराज में एंटी भूमाफिया स्क्वॉयड फेलः करोड़ों की सरकारी भूमि चेयरमैन व ईओ ने मिलीभगत कर बेची!

बहन की इज्जत बचाने गए भाई पर पेंचकस से हमला
मेरठ के लिसाड़ीगेट क्षेत्र में कई माह से एक युवती को फोन पर परेशान कर रहे मनचले की हरकतों का युवती के चचेरे भाई ने विरोध किया तो आरोपी ने युवक को पेंचकस घोंपकर अधमरा कर दिया। लेकिन पुलिस छेड़-छाड़ को लेकर अब भी गंभीर नहीं है। हालात ये है कि थाना पुलिस ने लापरवाही की सारी हदें पार करते हुए इस घटना को मामूली मारपीट से जुड़ा बता दिया। उज्जवल गार्डन निवासी युवती के अनुसार उसके पड़ोस में रहने वाला साकिब उर्फ मानू पुत्र हक्कम पिछले आठ माह से उसके मोबाइल पर काॅल करके उसे परेशान करता था। आरोप है कि साकिब उस पर अपने साथ दोस्ती करने का दबाव बनाता था। इतना ही नहीं, किसी को कुछ बताने पर युवती के परिवार के खात्मे की धमकी देता था। गुरुवार की रात 12 बजे साकिब ने युवती को काॅल करके घर से बाहर मिलने के लिए बुलाया। साथ ही धमकी दी कि यदि वह उससे मिलने नहीं आई तो वह उसके ऊपर तेजाब डालकर गोली मार देगा। दहशतजदा युवती ने मामले की जानकारी अपने पड़ोस में रहने वाले अपने चचेरे भाई इरशाद पुत्र दिलशाद को दी। आरोप है कि इरशाद ने शुक्रवार को आरोपी साकिब से मिलकर उसकी हरकत का विरोध किया तो साकिब और उसके साथियों ने इरशाद पर हमला बोलते हुए उसके पेट में पेंचकस घोंप दिया। हमले में घायल इरशाद को पहले जिला अस्पताल और हालत बिगड़ने पर युग नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया। पीड़ित के मुताबिक उसने थाने में आरोपियों के खिलाफ तहरीर दी है। वहीं, इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट ने घटना को कहासुनी और मारपीट से जुड़ा बताया है। गौरतलब है कि सरधना में मनचलों की हरकत का विरोध करने पर एक छात्रा को जला दिया गया था, जिसका पूरे जिले में भारी विरोध हुआ था। वह मामला अभी शांत भी नहीं हुआ था कि फिर एक शर्मसार करने वाली घटना सामने आ गई है।

Ad Block is Banned