scriptCDS Bipin Rawat was alive after Chopper Crash Rescuer says he also say His Name | CDS Bipin Rawat हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद भी थे जिंदा, हिंदी में कही थी कुछ बात, बचावकर्मी ने सुनाई आंखों देखी | Patrika News

CDS Bipin Rawat हेलिकॉप्टर क्रैश के बाद भी थे जिंदा, हिंदी में कही थी कुछ बात, बचावकर्मी ने सुनाई आंखों देखी

तमिलनाडु के कुन्नूर में हुए सेना के Mi-17V5 विमान के क्रैश होने के बाद भी CDS Bipin Rawat होश में थे। ये दावा घटनास्थल पर सबसे पहले पहुंचने वाले राहत एवं बचावदल के कर्मी ने किया है। उन्होंने बताया कि सीडीएस रावत ने हादसे के बाद अपना नाम भी बताया था। हालांकि हादसे में उनके शरीर के निचला हिस्सा काफी जल गया था

नई दिल्ली

Published: December 09, 2021 09:55:29 am

नई दिल्ली। तमिलनाडु ( Tamil Nadu ) के कुन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर क्रैश ( Helicopter Crash ) के बाद सीडीएस जनरल बिपिन रावत ( CDS Bipin Rawat ) होश में थे। वे जिंदा थे और बात भी कर रहे थे। हालांकि उन्होंने ज्यादा कुछ नहीं कहा, लेकिन बचावकर्मी ने हादसे के बाद सीडीएस बिपिन रावत के मुंह से जिन शब्दों को सुना उसकी जानकारी दी। सबसे पहले चॉपर के बिखरे पड़े मलबे के पास पहुंचे राहत और बचाव दल में शामिल शख्स का दावा है कि हादसे के बाद Mi-17V5 के मलबे से निकाले जाने पर सीडीएस रावत जिंदा थे। उन्होंने खुद हिंदी में अपना नाम भी बताया था।
CDS General Bipin Rawat
इस शख्स का दावा है कि सबसे पहले हादसे के बाद दो लोगों को रेस्क्यू किया गया। इनमें से एक सीडीएस जनरल बिपिन रावत थे, जबकि दूसरे शख्स की पहचान उस दौरान नहीं हो पाई थी। रावत ने खुद अपना नाम बताया था, जिसे बचावकर्मी ने सुना।
यह भी पढ़ेँः CDS Bipin Rawat समेत सभी के पार्थिव शरीर आज लाए जाएंगे दिल्ली, रक्षा मंत्री संसद में देंगे बयान

हादसे के बाद वहां राहत और बचाव के लिए पहुंची टीम में शामिल एन सी मुरली नाम के बचावकर्मी ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने बताया कि हैलिकॉप्टर क्रैश के बाद सीडीएस रावत होश में थे। मुरली के मुताबिक 'हमने 2 लोगों को जिंदा बचाया, जिनमें से एक सीडीएस बिपिन रावत थे।
उन्होंने धीमी आवाज में अपना नाम बताया। उनकी मौत अस्पताल जाते वक्त रास्ते में हुई। हम उस वक्त जिंदा बचाए गए दूसरे शख्स की पहचान नहीं कर सके।

जनरल रावत के साथ जिन अन्य शख्स को निकाला गया था, बाद में उनकी पहचान ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह के रूप में हुई। ग्रुप कैप्टन हादसे में जिंदा बचे एकमात्र व्यक्ति हैं। उनका अभी इलाज चल रहा है और हालत नाजुक बताई जा रही है।
712.jpgशरीर का निचला हिस्सा बुरी तरह जल गया था
बचावकर्मी मुरली के मुताबिक हादसे के बाद सीडीएस रावत के शरीर के निचले हिस्से बुरी तरह जल गए थे। इसके बाद उन्हें एक बेडशीट में लपेट कर एंबुलेंस में ले जाया गया था।
बता दें कि मुरली फायर सर्विस टीम में शामिल थे। जो राहत टीम वहां पहुंची थी मुरली उसका हिस्सा थे।
मुरली के मुताबिक जलते विमान के मलबे को बुझाने के लिए फायर सर्विस इंजन को वहां तक ले जाने में भी कड़ी मशक्कत करना पड़ी। क्योंकि वहां तक ले जाने के लिए सड़क नहीं थी।
यह भी पढ़ेंः स्मृति शेष : फौजी सीमा की सुरक्षा करता है, पत्रकार लोकतंत्र की - बिपिन रावत

ऐसे में वे आसपास के घरों और नदियों से पानी लाकर इस आग को बुझाने की कोशिश कर रहे थे। मुरली ने बताया यह ऑपरेशन काफी मुश्किल था।

घटनास्थल के आस-पास काफी पेड़ होने के कारण बचाव कार्य में काफी दिक्कतें आ रहीं थीं। इसके चलते रेस्क्यू में देरी भी हुई।
बचावकर्मियों को 12 लोगों के शव मिले थे। जबकि दो लोगों को जिंदा बचाया गया था। हालांकि जिंदा बचे दोनों लोग बुरी तरह झुलसे हुए थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.