script महंगाई से थोड़ी राहत, जनवरी में घटकर 5.1% पर आई खुदरा मुद्रास्फीति | India's retail inflation rate declined to 5.1 percent in January | Patrika News

महंगाई से थोड़ी राहत, जनवरी में घटकर 5.1% पर आई खुदरा मुद्रास्फीति

locationनई दिल्लीPublished: Feb 12, 2024 07:24:22 pm

Submitted by:

Shaitan Prajapat

Retail Inflation : महंगाई से थोड़ी राहत मिली है। देश में खुदरा मुद्रास्फीति इस साल जनवरी में घटकर 5.1 प्रतिशत हो गई, जो दिसंबर 2023 में 5.69 प्रतिशत थी।

retail_inflation99.jpg

Retail Inflation : महंगाई से जुझ रही आम जनता के लिए राहत भरी खबर आई है। भारत की खुदरा मुद्रास्फीति इस साल जनवरी में घटकर 5.1 प्रतिशत हो गई, जो दिसंबर 2023 में 5.69 प्रतिशत थी। सोमवार को यह आधिकारिक आंकड़ें जारी किए गए है। इससे घरेलू बजट में कुछ राहत मिली। खाद्य मुद्रास्फीति कुल उपभोक्ता मूल्य सूचकांक (सीपीआई) का लगभग आधा हिस्सा है। यह दिसंबर में 9.05 प्रतिशत से गिरकर जनवरी में 8.3 प्रतिशत हो गई। हालांकि, महीने के दौरान सब्जियों, दालों और मसालों की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। इसी बीच राहत की बात रही कि कि खाना पकाने के लिए तेल की कीमतों में गिरावट आई है।


सब्जियों और दालों की कीमत में नहीं मिली राहत

आंकड़ों से पता चलता है कि सब्जियों की कीमतें 27.03 प्रतिशत तक बढ़ गईं, जो दिसंबर के दौरान 31.34 प्रतिशत से कम थी। जहां तक दालों का सवाल है, कोई राहत नहीं मिली। वे 19.54 प्रतिशत महंगी हो गईं, जबकि मसाले 16.36 प्रतिशत महंगे हो गए। अनाज की कीमतें जनवरी में 7.83 फीसदी बढ़ीं, जो दिसंबर में 9.53 फीसदी थीं।

छह बार रेपो दर 6.5% पर बरकरार

उपभोक्ता मूल्य मुद्रास्फीति अब आरबीआई के 2-6 प्रतिशत टारगेट के बीच से थोड़ा ऊपर है। यही कारण है कि आरबीआई आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए ब्याज दरों में कटौती नहीं कर रहा है। आरबीआई मुद्रास्फीति को नियंत्रण में रखना चाहता है और उसने अपनी द्विमासिक मौद्रिक नीति समीक्षाओं में लगातार छह बार रेपो दर को 6.5 प्रतिशत पर बरकरार रखा है।

यह भी पढ़ें

न्याय यात्रा के लिए चंदा देने के मामले में आंध्र प्रदेश सबसे आगे, इतने करोड़ का मिला दान



यह भी पढ़ें

बंगाल में कब तक चढ़ती रहेगी हिंदुओं की बलि, महिलाओं का होता रहेगा रेप : संदेशखाली हिंसा को लेकर स्मृति का हमला


ट्रेंडिंग वीडियो