scriptराहुल गांधी पर वीडियो बनाने वाले पत्रकार को गिरफ्तार करने पहुंची थी कर्नाटक पुलिस, लेकिन नोएडा पुलिस की वजह से नहीं हो सकी गिरफ्तारी | Patrika News
राष्ट्रीय

राहुल गांधी पर वीडियो बनाने वाले पत्रकार को गिरफ्तार करने पहुंची थी कर्नाटक पुलिस, लेकिन नोएडा पुलिस की वजह से नहीं हो सकी गिरफ्तारी

New Delhi: कर्नाटक पुलिस गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-55 पहुंची और पत्रकार अजीत भारती की तलाश करने लगी।

नई दिल्लीJun 20, 2024 / 07:49 pm

Prashant Tiwari

 कर्नाटक पुलिस गुरुवार को नोएडा के सेक्टर-55 पहुंची और पत्रकार अजीत भारती की तलाश करने लगी। आसपास के लोगों और अजीत के परिवार ने सादे कपड़ों में घर के आसपास घूम रहे लोगों को देखकर उन्हें संदिग्ध समझा और इसकी सूचना नोएडा पुलिस को दी। मौके पर पहुंची नोएडा पुलिस कर्नाटक पुलिस के तीन अधिकारी को अपने साथ लेकर थाने आई और वहां पर उनसे पूरे मामले को समझा। इसके बाद कर्नाटक पुलिस के तीन अधिकारी अजीत भारती को एक नोटिस थमा कर वापस लौट गए। नोटिस के तहत अजीत भारती को 7 दिन के अंदर हाजिर होने को कहा गया है।
कैब से पहुंची थी कर्नाटक पुलिस
जानकारी के मुताबिक, अजीत भारती के घर गुरुवार दोपहर एक कैब से तीन लोग पहुंचे थे। उन्होंने खुद को कर्नाटक पुलिस से बताया। मौके पर नोएडा पुलिस भी पहुंची। नोएडा के सेक्टर-55 के ई-57 में कर्नाटक पुलिस के तीन अधिकारी पहुंचे थे। अजीत भारती ने अपने एक वीडियो में कहा कि कर्नाटक पुलिस के तीन जवान उनके घर पहुंचे और उनके साथ लोकल पुलिस भी नहीं थी, जिसके बाद इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई। कर्नाटक से आई पुलिस ने नोएडा पुलिस की मौजूदगी में अजीत भारती को एक नोटिस थमाया और उन्हें सात दिन के अंदर हाजिर होने के लिए कहा है। अजीत भारती को नोटिस देने के बाद कर्नाटक पुलिस वापस लौट गई है।
राहुल गांधी के खिलाफ की थी टिप्पणी

गौरतलब है कि पत्रकार अजीत भारती ने बीते दिनों एक वीडियो बनाया था, जिसमें उन्होंने राहुल गांधी को लेकर कुछ टिप्पणियां की थी। जिसके बाद कर्नाटक पुलिस ने हाई ग्राउंड्स पुलिस स्टेशन, वसंत नगर, बेंगलुरु में अजीत के खिलाफ मामला दर्ज किया। दर्ज शिकायत के मुताबिक अजीत भारती ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर अपना पोस्ट डाला था। इसमें एक यूट्यूब का लिंक भी था। जिसको अजीत भारती चलाते हैं। पुलिस ने जो नोटिस अजीत भारती को थमाया है, उसमें लिखा है कि “दर्ज मामले की जांच के उद्देश्य से, आपको इस नोटिस की प्राप्ति के 7 दिनों के भीतर हाई ग्राउंड्स पुलिस स्टेशन में सुबह 11.00 बजे हस्ताक्षरित जांच अधिकारी के समक्ष उपस्थित होने का निर्देश दिया जाता है।”

Hindi News/ National News / राहुल गांधी पर वीडियो बनाने वाले पत्रकार को गिरफ्तार करने पहुंची थी कर्नाटक पुलिस, लेकिन नोएडा पुलिस की वजह से नहीं हो सकी गिरफ्तारी

ट्रेंडिंग वीडियो