scriptसंदेशखाली विवाद के बीच 10 मार्च को शक्ति प्रदर्शन करेंगी ममता बनर्जी, शेख शांहजहा पर साधी हुई हैं चुप्पी | Mamata Banerje rally in Kolkata March 10 amid Sandeshkhali controvery | Patrika News
राष्ट्रीय

संदेशखाली विवाद के बीच 10 मार्च को शक्ति प्रदर्शन करेंगी ममता बनर्जी, शेख शांहजहा पर साधी हुई हैं चुप्पी

Mamata Banerjee: पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने रविवार को घोषणा की कि वह 10 मार्च को यहां ब्रिगेड परेड ग्राउंड में एक मेगा रैली के साथ आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने अभियान की शुरुआत करेगी।

Feb 26, 2024 / 09:18 am

Prashant Tiwari

 Mamata Banerjee rally in Kolkata on March 10 amid Sandeshkhali controversy

 

संदेशखाली में हिंदू महिलाओं के साथ हुए दुष्कर्म की घटना सामने आने के बाद हो रहे विवाद के बीच पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने रविवार को 10 मार्च को ब्रिगेड परेड ग्राउंड में एक मेगा रैली का आयोजन किया है। इस जनसभा को दौरान ममता बनर्जी आगामी लोकसभा चुनाव के लिए अपने अभियान की शुरुआत करेगी।

रैली में दिखेगी बुआ और भतीजे की कमेस्ट्री

पार्टी के अंदरूनी सूत्रों ने कहा कि रैली में बुआ और भतीजा, दोनों समेत नेतृत्व मुख्य रूप से विभिन्न केंद्रीय प्रायोजित योजनाओं के तहत राज्य सरकार के लंबित केंद्रीय बकाया के मुद्दों को उजागर करेगा, जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना और मनरेगा के तहत 100 दिन के रोजगार पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

mamta_banrjee.jpg

 

प्रधानमंत्री की रैली के बाद करेंगी रैली

2019 के लोकसभा चुनाव से पहले तृणमूल ने ब्रिगेड परेड ग्राउंड में एक ऐसी ही मेगा रैली का आयोजन किया था, जिसमें कांग्रेस जैसे राष्ट्रीय दलों के साथ-साथ अन्य राज्यों के क्षेत्रीय दलों के शीर्ष नेताओं ने भाग लिया था। संयोग से, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मार्च में ही पश्चिम बंगाल का दौरा करने वाले हैं और पूरी संभावना है कि वह 6 मार्च या 7 मार्च को उत्तर 24 परगना जिले में एक रैली को संबोधित करेंगे।

संदेशखाली का मुद्दा उठा सकते हैं प्रधानमंत्री

उम्मीद है कि प्रस्तावित रैली में वह स्थानीय महिलाओं द्वारा स्थानीय तृणमूल नेताओं पर यौन उत्पीड़न और उनके खिलाफ हिंसा का आरोप लगाने पर उसी जिले के संदेशखाली में हुए हालिया घटनाक्रम पर प्रकाश डालेंगे। राजनीतिक पर्यवेक्षकों की राय है कि तृणमूल ने जानबूझकर अपनी मेगा रैली की तारीख 10 मार्च चुनी है, ताकि प्रधानमंत्री द्वारा उठाए गए मुद्दों का भी वहां मुकाबला किया जा सके। बता दें कि वह अब तक ममता बनर्जी ने संदेशखाली को लेकर किसी भी तरह का बयान नहीं दिया हैं। उन्होंने टीएमसी नेता शेख शाहजहां पर भी पूरी तरह से चुप्पी साध रखी हैं।

Hindi News/ National News / संदेशखाली विवाद के बीच 10 मार्च को शक्ति प्रदर्शन करेंगी ममता बनर्जी, शेख शांहजहा पर साधी हुई हैं चुप्पी

loksabha entry point

ट्रेंडिंग वीडियो