रेल यात्री कृपया ध्यान दें: रेलवे ने अगले 6 महीने के लिए जारी की कोरोना गाइडलाइंस, अगर अनदेखी की तो देना होगा भारी जुर्माना

देश में कोरोना संक्रमण के मामले भले ही कम हो रहे हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। केंद्र सरकार की ओर से जारी किए गए अलर्ट के तहत, अगले तीन महीने बेहद संवेदनशील हैं और बहुत सावधानीपूर्वक गुजारने हैं। केंद्र के मुताबिक छोटी सी लापरवाही भी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को बुला सकती है।

 

By: Ashutosh Pathak

Updated: 08 Oct 2021, 11:22 AM IST

नई दिल्ली।

रेल यात्रियों के लिए महत्वपूर्ण सूचना है। रेलवे ने एक ऐसा नियम बनाया है, जिसकी अनदेखी करना आपके लिए परेशानी का कारण बन सकता है। यह नियम कोरोना संक्रमण को लेकर बने गाइडलाइंस से जुड़ा है, इसलिए रेल यात्रा के दौरान इसे नजरअंदाज बिल्कुल नहीं करें।

देश में कोरोना संक्रमण के मामले भले ही कम हो रहे हैं, लेकिन खतरा अभी टला नहीं है। केंद्र सरकार की ओर से जारी किए गए अलर्ट के तहत, अगले तीन महीने बेहद संवेदनशील हैं और बहुत सावधानीपूर्वक गुजारने हैं। केंद्र के मुताबिक छोटी सी लापरवाही भी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को बुला सकती है।

यह भी पढ़ें:-6 घंटे की बैठक के बाद हुआ फैसला, कई मुद्दों पर तनाव के बावजूद जो‌ बिडेन और शी जिनपिंग करेंगे मुलाकात

इसको लेकर सभी विभागों में सावधानी बरतने के निर्देश दिए गए हैं। रेलवे की कोरोना महामारी को लेकर बनाई गई गाइडलाइन में सख्ती अब भी बरकरार है। यही वजह है कि रेलवे ने कोरोना महामारी से जुड़े गाइडलाइन को अगले 6 माह तक के लिए बढ़ा दिया है। इस गाइडलाइन में मास्क की अनिवार्यता भी बरकरार है।

रेल मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक रेलवे परिसर और ट्रेनों में मास्क नहीं पहनने पर 500 रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। ये गाइडलाइन पहले भी थी, अब अगले 6 माह यानी अप्रैल 2022 तक के लिए इसे बढ़ाया गया है।

यह भी पढ़ें:-विदेश में फंसे लोग चार्टर्ड प्लेन से भारत आ सकेंगे, 15 अक्टूबर से शुरू होंगी सर्विस

अगले तीन महीने त्योहार और शादी-विवाह से जुड़े सीजन हैं, जिससे भीड़ बढ़ सकती है। त्योहारी सीजन में रेलवे परिसर या प्लेटफॉर्म पर भीड़ की आशंका जाहिर की जा रही है। दरअसल, रेलवे ने दिवाली और छठ पर्व की वजह से स्पेशल ट्रेन चलाने का ऐलान किया है। ऐसे में बुकिंग बढ़ेगी और प्लेटफॉर्म या रेलवे परिसर में भीड़ भी होगी

बता दें कि रेलवे सीट के हिसाब से बुकिंग कर रहा है। वर्तमान में वेटिंग सिस्टम को बंद कर दिया गया है। कोरोना से पहले वेटिंग टिकट के जरिए भी लोग यात्रा कर पा रहे थे। इस वजह से हर साल दिवाली और छठ के मौके पर ट्रेनों में जबरदस्त भीड़ देखने को मिलती थी। हालांकि, कोरोना के बाद से रेलवे की यात्री सेवाएं भी सीमित हो चुकी हैं।

COVID-19 virus
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned