दिल्ली में सीसीटीवी लगाने के प्रॉजेक्ट को CBI और LG के सहारे रोकेगी भाजपा: केजरीवाल

दिल्ली में सीसीटीवी लगाने के प्रॉजेक्ट को CBI और LG के सहारे रोकेगी भाजपा: केजरीवाल

Anil Kumar | Publish: Aug, 11 2018 04:09:54 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

दिल्ली विधानसभा के मानसून सत्र के आखिरी दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सदन को बताया कि सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव कैबिनेट से पास हो गया है। इसके बाद से भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच राजनीतिक घमासान तेज हो गया।

नई दिल्ली। आम चुनाव अगले वर्ष होने वाले हैं लेकिन राजनीतिक घमासान अभी से शरू हो चुका है। खासकर राजधानी दिल्ली में सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच राजनीतिक लड़ाई में अब एक नया रंग चंढ़ गया है। दरअसल शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा के मानसून सत्र के आखिरी दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सदन को बताया कि सीसीटीवी कैमरे लगाने का प्रस्ताव कैबिनेट से पास हो गया है। इसके बाद से भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच राजनीतिक घमासान तेज हो गया। जहां एक और अरविंद केजरीवाल ने भाजपा पर कई गंभीर आरोप लगाए तो वहीं भाजपा दिल्ली की समस्याओं के लिए केजरीवाल सरकार को जिम्मेदार ठहराया।

ट्वीट कर केजरीवाल ने भाजपा पर साधा निशाना

आपको बता दें कि शनिवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक ट्वीट करते हुए भाजपा और मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। ट्वीट करते हुए केजरीवाल ने लिखा कि भाजपा अब सीसीटीवी कैमरे लगाने से रोकने के लिए हर तरह का प्रयास करेगी। केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा कि 'एक भाजपा नेता ने मुझे बताया कि CCTV कैमरे भाजपा क़तई नहीं लगने देगी। भाजपा दो विकल्प पर काम कर रही है- पहला यह कि CBI में फ़र्ज़ी मामला दर्ज कर सारी फ़ाइल उठा लो और प्रोजेक्ट रोक दो और दूसरा यह कि उपराज्यपाल इस मामले को राष्ट्रपति को भेज दे'। आगे केजरीवाल ने लिखा कि अगर भाजपा CCTV कैमरे रोकेगी तो लोग क़तई बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने लिखा कि 'सीसीटीवी कैमरे लगने से भाजपा बेहद दुखी है। कल विधानसभा में जब ये एलान किया गया कि दिल्ली कैबिनेट ने सीसीटीवी कैमरों की मंजूरी दे दी है तो तीनों भाजपा विधायकों के मुंह लटक गए। भाजपा दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे क्यों नहीं लगने देना चाहती’?

एनडीएमसी स्कूल रेप केस: DCW अध्यक्ष ने की आरोपी को फांसी देने की मांग, प्रिंसिपल को भेजा नोटिस

विधानसभा के अंदर भी केजरीवाल ने भाजपा को ठहराया था जिम्मेदार…

आपको बता दें कि शुक्रवार को विधानसभा के मानसून सत्र के आखिरी दिन सदन का कार्रवाई में भाग लेते हुए केजरीवाल ने जमकर भाजपा पर निशाना साधा था। केजरीवान ने सीधे-सीधे आरोप लगाया था कि राजधानी में सीसीटीवी कैमरे लगाने में तीन वर्ष की देरी मोदी सरकार की वजह से हुई है। उन्होंने कहा था कि मोदी सरकार हमें काम नहीं करने देती और हर योजना पर किसी न किसी तरह से अड़चन पैदा करने की कोशिश की। ट्वीट करते हुए केजरीवाल ने कहा था कि सीसीटीवी लगने से भाजपा चुनाव के दौरान शराब और पैसे नहीं बांट पाएगी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned