scriptकॉलेज की बिल्डिंग निर्माण और संसाधन पर करोड़ों खर्च, नहीं हो सकी बाउंड्रीवाल | Patrika News
समाचार

कॉलेज की बिल्डिंग निर्माण और संसाधन पर करोड़ों खर्च, नहीं हो सकी बाउंड्रीवाल

– असुरक्षित है कॉलेज परिसर, हो रहा अतिक्रमण, प्रशासन गंभीर नहीं
– कॉलेज प्रबंधन ने शासन को भेजा बाउंड्रीवाल का प्राक्कलन

मोरेनाJun 26, 2024 / 09:45 pm

Ashok Sharma

मुरैना. शासकीय पी जी एक्सीलेंस कॉलेज की बिल्डिंग निर्माण और संसाधन पर करोड़ों रुपए खर्च किया जा चुका है लेकिन परिसर की बाउंड्रीवाल अभी तक नहीं बन सकी है, इसके चलते परिसर पूरी तरह असुरक्षित है।
कॉलेज की बिल्डिंग के प्रथम तल के निर्माण तीन करोड़ से अधिक खर्च हो गया। इसके अलावा संसाधनों पर भी बड़ी राशि खर्च की जा चुकी है। वहीं प्रधानमंत्री एक्सीलेंस घोषित होने पर कॉलेज को और भी बजट और संसाधन मिलने वाले हैं। लेकिन बाउंड्रीवाल का निर्माण नहीं होने से कॉलेज परिसर पूरी तरह असुरक्षित है। यहां परिसर में आवारा गोवंश विचरण करता रहता है। जिससे हादसा होने की आशंका बनी हुई है। वहीं बाउंड्रीवाल न होने से असमाजिक तत्व कॉलेज परिसर में घुस जाते हैं। जमीन तल पर भवन की खिड़कियों के कांच फोड़ दिए हैं, हालांकि प्रबंधन ने पूरे कांच दोबारा से नए लगवा दिए हैं। उसके बाद कुछ कांच आज भी फूटे पड़े हैं। कॉलेज में 1550 के करीब छात्र- छात्राएं और आधा सैकड़ा स्टाफ तैनात है।
इसलिए नहीं हो पा रही है बाउंड्रीवाल
करीब एक दशक पूर्व महाराजपुर के पास जौरा रोड पर नई बिल्डिंग में शासकीय पी जी कॉलेज शिफ्ट हुआ था। उस समय बाउंड्रीवाल के निर्माण के समय रहवासियों ने यह कहकर आपत्ति कर दी कि हमारी जमीन हैं, इसमें बाउंड्री नहीं कर सकते। उसके बाद मामला कोर्ट में पहुंच गया। वहां प्रशासन की तरफ से प्रोपर प्रयास नहीं किए गए इसलिए मामला पेडिंग पड़ा है।
शासन को भेजा है प्राक्कलन
कॉलेज प्रबंधन के द्वारा बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए करीब 80 लाख का प्राक्कलन शासन को भेजा गया है। वहां से राशि मंजूर होने पर बाउंड्रीवाल निर्माण के प्रयास में कहां कमी रही, उस दिशा में कार्य किया जाएगा। जनभागीदारी समिति कॉलेज के अध्यक्ष नीरज शर्मा का कहना हैं कि शासन से राशि आने पर जो लोग अपनी जमीन बताकर विवाद खड़ा कर रहे हैं, उनसे बातचीत करके मामले को सुलझाने का प्रयास किया जाएगा।
कथन
  • कॉलेज की बाउंड्रीवाल निर्माण के लिए शासन को प्राक्कलन भेजा है। राशि मंजूर होते ही बाउंड्रवाल निर्माण की दिशा में कारगर प्रयास किए जाएंगे।
    डॉ. किशोर अरोरा, प्रभारी प्राचार्य, शासकीय पी जी एक्सीलेंस कॉलेज, मुरैना

Hindi News/ News Bulletin / कॉलेज की बिल्डिंग निर्माण और संसाधन पर करोड़ों खर्च, नहीं हो सकी बाउंड्रीवाल

ट्रेंडिंग वीडियो