scriptतीन एकड़ जमीन पर बनेगा ई-बसों का डिपो, छह रूट पर चलाने की कवायद | Patrika News
समाचार

तीन एकड़ जमीन पर बनेगा ई-बसों का डिपो, छह रूट पर चलाने की कवायद

सिविल निर्माण के लिए तैयार हो रही डीपीआर, पावर सप्लाई के लिए हुआ मौका मुआयना बीकानेर. पीएम ई बस सेवा योजना के तहत शहर में ई बसों के संचालन के लिए कवायद प्रारंभ हो गई है। ई बसों को खड़ा करने, चार्जिंग व रख रखाव के लिए तीन एकड़ जमीन पर डिपो का निर्माण होगा। योजना […]

बीकानेरJun 15, 2024 / 10:55 pm

Vimal

सिविल निर्माण के लिए तैयार हो रही डीपीआर, पावर सप्लाई के लिए हुआ मौका मुआयना

बीकानेर. पीएम ई बस सेवा योजना के तहत शहर में ई बसों के संचालन के लिए कवायद प्रारंभ हो गई है। ई बसों को खड़ा करने, चार्जिंग व रख रखाव के लिए तीन एकड़ जमीन पर डिपो का निर्माण होगा। योजना के तहत बीकानेर को 50 ई बसों का आवंटन हुआ है। ये बसें सिटी ट्रांसपोर्ट के रूप में संचालित होंगी। ई बसों के संचालन के लिए प्रारंभिक रूप से शहर में छह रूट तय किए गए हैं।
परकोटा क्षेत्र में ई बसों के संचालन की संभावना कम है। जिला कलक्टर के नेतृत्व में नगर निगम, नगर विकास न्यास के अधिकारी ई बसों के संचालन की प्रारंभिक तैयारियों में जुटे हुए हैं। जिला कलक्टर ई बसों के डिपो के संचालन के लिए स्थानों का निरीक्षण कर चुकी हैं। ई बसों के रख रखाव व संचालन कार्य के लिए बस डिपो का निर्माण व इलेक्ट्रिकल कार्य होगा, जिसका प्रारंभिक एस्टीमेट भी तैयार किया गया है।
एमजीएसयू के पास जमीन आवंटन का भेजा प्रस्ताव

ई बसों के संचालन के लिए डिपो निर्माण को लेकर शहर में चार स्थानों को प्रारंभिक रूप से चिन्हित किया गया। निगम आयुक्त अशोक कुमार आसीजा के अनुसार इनमें चौधरी भीमसेन सर्कल से बीछवाल के बीच सरकारी भूमि, हल्दीराम प्याऊ जयपुर रोड पर सरकारी भूमि, एमजीएसयू के पास नेशनल हाइवे पर सार्वजनिक गोचर भूमि, भीनासर के पास नोखा रोड पर नेशनल हाइवे के दोनों और सार्वजनिक गोचर भूमि, नगर विकास न्यास के स्वामित्व की किसी उपयुक्त स्थान पर भूमि शामिल है। जिला कलक्टर की ओर से इनमें से किसी एक उपयुक्त स्थान का चयन कर प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए गए थे। जिला कलक्टर को एमजीएसयू के पास नेशनल हाइवे पर सार्वजनिक गोचर भूमि में इस कार्य के लिए भूमि आवंटन को लेकर प्रस्ताव भेज दिया गया है।
3 मेगावाट बिजली सप्लाई की रहेगी जरूरत

ई बसों के डिपो में विद्युत सप्लाई व्यवस्था का जिमा संभाल रहे व निगम एक्सईएन विद्युत अनिल कनवाडिया के अनुसार ई बसों के डिपो के लिए तीन मेगावाट विद्युत सप्लाई की जरूरत रहेगी। 33 केवी फीडर से विद्युत सप्लाई की जरुरत रहेगी। बीकेईसीएल के अधिकारियों के साथ एमजीएसयू के पास जमीन मौका मुआयना किया गया। करीब तीन किमी विद्युत लाइन डाली जाएगी। यह विद्युत सप्लाई मुरलीधर 33 केवी जीएसएस से सप्लाई होगी। वास्तविक विद्युत लाइन की लंबाई जमीन आवंटन के बाद ही तय हो सकेगी।
9.97 करोड़ का अनुमानित एस्टीमेट

ई बसों के डिपो के लिए सिविल वर्क के लिए प्रारंभिक रूप से अनुमानित एस्टीमेट तैयार किया गया है। निगम अधिशासी अभियंता पवन बंसल के अनुसार प्रारंभिक व अनुमानित एस्टीमेट के अनुसार सिविल वर्क पर करीब 9.97 करोड़ रुपए की लागत आएगी। सिविल कार्य व बिहाइंड द पावर इंफ्रास्ट्राक्चर के लिए डीपीआर प्रस्ताव सिविल व इलेक्ट्रिीकल की टीम की ओर से प्रारंभिक रूप से तैयार किए गए है।
उपयोगी रूट होगा तैयार

ई बस सेवा संचालन के लिए बनने वाले डिपो के लिए भू आवंटन के प्रयास किए गए। जमीन आवंटन के लिए कलक्टर के माध्यम से पत्र राज्य सरकार को भेज दिया गया है। जल्द सरकार स्तर पर जारी निविदा अनुसार यार्ड बनाकर 50 ई बसों का संचालन किया जाएगा। आगामी दिनों में चर्चा कर सबसे उपयोगी रूट तैयार किए जाएंगे।
सुशीला कंवर राजपुरोहित, महापौर, नगर निगम, बीकानेर।

Hindi News/ News Bulletin / तीन एकड़ जमीन पर बनेगा ई-बसों का डिपो, छह रूट पर चलाने की कवायद

ट्रेंडिंग वीडियो