scriptप्रथम सत्र वालों की इस साल हो जाएगी डिग्री, अब तक भवन अधूरा | बृजमोहन लाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय | Patrika News
समाचार

प्रथम सत्र वालों की इस साल हो जाएगी डिग्री, अब तक भवन अधूरा

बृजमोहन लाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय

ब्यावरJun 29, 2024 / 12:26 pm

Bhagwat

gairls collage

बृजमोहन लाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय

बृजमोहन लाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय : वर्ष 2022 में महाविद्यालय भवन का निर्माण हुआ था शुरू, सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय में ही चल रही है कक्षाएं

ब्यावर. शहर में तीन साल पहले राजकीय कन्या महाविद्यालय खोला गया। इसमें प्रवेश प्रक्रिया भी शुरू हो गई। इस बार कन्या महाविद्यालय में तृतीय वर्ष में प्रवेश शुरु हो गए हैं। कन्या महाविद्यालय के भवन का काम अब भी चल रहा है। काम इस गति से ही चलता रहा तो महाविद्यालय में पहले सत्र में प्रवेश लेने वाली बालिकाओं की डिग्री हो जाएगी लेकिन महाविद्यालय भवन का काम पूरा नहीं हो सकेगा। हालांकि बालिका महाविद्यालय का 70 फीसदी काम पूरा हो गया है। समय पर बजट मिले एवं काम लगातार जारी रहे तो तीन-चार माह में काम पूरा हो सकता है।गत सरकार ने ब्यावर में राजकीय कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा की। जिसका बाद में नाम बदलकर बृजमोहन लाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय कर दिया गया। इसकी घोषणा के साथ ही महाविद्यालय को सीटें आवंटित हो गई। महाविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया शुरु हो गई। महाविद्यालय खुलने पर जिन बालिकाओं ने पहले सत्र में प्रवेश लिया। वे बालिकाएं अब तृतीय वर्ष में आ गई हैं। इस साल भवन का काम पूरा नहीं होता है तो भवन के उद्घाटन से पहले ही पहले सत्र में प्रवेश लेने वाली बालिकाओं की डिग्री पूरी हो जाएगी। गौरतलब है कि राजकीय कन्या महाविद्यालय में हाल में कला संकाय चल रहा है। इसमें 214 बालिकाएं अध्ययनरत है। इस साल प्रथम वर्ष में 200 सीटें है। ऐसे में इन सीटों पर प्रवेश हो जाता है तो बालिका महाविद्यालय में चार सौ से अधिक बालिकाएं हो जाएंगी।
तीन करोड़ की लागत से बन रहा है भवन

राजकीय कन्या महाविद्यालय के भवन के लिए तीन करोड़ दस लाख के करीब बजट की स्वीकृति मिली। इसका काम चार सितम्बर 2022 को शुरू हुआ। यह काम 3 सितम्बर 2023 को पूरा होना था। भवन निर्माण के लिए समय पर बजट नहीं मिलने के कारण लंबित होता गया। अब भी काम अधूरा पड़ा है। हालांकि अब वापस काम शुरू हो गया है। काम की गति धीमी रही तो इस सत्र में भी महाविद्यालय में कक्षाओं का विधिवत संचालन शुरू नहीं हो सकेगा। वहीं जिले का बड़ाखेड़ा महाविद्यालय भी गांव में िस्थत सीनियर सैकण्डरी स्कूल के भवन में चल रहा है।
216 ने किया आवेदन

तीन साल पहले बृजमोहनलाल शर्मा राजकीय कन्या महाविद्यालय, राजकीय महाविद्यालय बडाखेड़ा एवं राजकीय महाविद्यालय बिजयनगर खोले गए। इन महाविद्यालयों में अब तक स्थायी रूप से स्टाफ नहीं लग सका है। ऐसे में विद्या संबल योजना के तहत प्रति कालांश आठ सौ रुपए के नियम पर प्रोफेसर लगा रहे हैं। अब तक संविदा पर लगे इन प्रोफेसर का नियत समय 29 जून को पूरा हो जाएगा। इसके बाद एक जुलाई से नए प्रोफेसर लगाए जाएंगे। इसके लिए 216 आवेदकों ने आवेदन किए हैं। इन तीनों महाविद्यालयों का नोडल महाविद्यालय सनातन धर्म राजकीय महाविद्यालय ब्यावर को बनाया गया है। इन तीनों महाविद्यालय में 21 प्रोफेसर संविदा पर लगाए जाने हैं। इसके लिए 216 अभ्यार्थियों ने आवेदन किए हैं।
ऑनलाइन भी हाजरी

शहर की सिटी डिस्पेंसरी में स्टाफ के समय पर नहीं आने के मामले सहित अन्य शिकायतों को लेकर जांच कमेटी गठित की गई है। स्टाफ को नियमित रूप से ऑनलाइन भी हाजरी देने के निर्देश दिए गए हैं। स्टाफ की हाजरी पर अब अमृतकौर चिकित्सालय से नियमित निगरानी रखी जाएगी। जांच कमेटी पूरे मामले की बिन्दुवार जांच कर रिपोर्ट देगी। शहर के सिटी डिस्पेंसरी में स्टाफ के समय पर नहीं आने के अलावा अन्य अव्यवस्थाओं को लेकर क्षेत्र के लोगों ने गुरुवार को विरोध शुरु कर दिया। इस मामले को लेकर राजकीय अमृतकौर चिकित्सालय के पीएमओ डॉ. सुरेन्द्रसिंह चौहान ने जांच कमेटी का गठन किया। इसके अलावा सिटी डिस्पेंसरी के स्टाफ का प्रतिदिन ऑनलाइन भी हाजरी दर्ज करने के निर्देश दिए है। बायोमैटि्रक में छेड़छाड़ की बात सामने आने पर अब इसकी भी जांच करवाई जाएगी। गौरतलब है कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी व अमृतकौर चिकित्सालय प्रशासन ने पत्रिका में प्रकाशित समाचार सिटी डिस्पेंसरी में हुआ हंगामा, जताया विरोध…को लेकर अस्पताल प्रशासन से रिपोर्ट तलब कर जांच कमेटी का गठन किया।

Hindi News/ News Bulletin / प्रथम सत्र वालों की इस साल हो जाएगी डिग्री, अब तक भवन अधूरा

ट्रेंडिंग वीडियो