scriptकृषि साख सहकारी समितियों में होने वाली अनियमितताओं पर लगेगी लगाम | Patrika News
समाचार

कृषि साख सहकारी समितियों में होने वाली अनियमितताओं पर लगेगी लगाम

सहकारी केंद्रीय बैंक।

टीकमगढ़Jul 11, 2024 / 11:01 am

akhilesh lodhi

सहकारी केंद्रीय बैंक।

सहकारी केंद्रीय बैंक।

आर्थिक गडबडिय़ों को रोकने समितियां होगी कंप्यूटराइज्ड, ऑनलाइन दिखेगा किसानों का लेखाजोखा

टीकमगढ़.टीकमगढ़ और निवाड़ी जिले में ८७ कृषि साख सहकारी समितियां संचालित हो रही है। इन समितियों पर ऑफ लाइन ऋण वितरण वितरण और वसूली जमा की जा रही है। जिनमें प्रबंधकों के साथ अन्य कर्मचारियों द्वारा आर्थिक अनियमितताएं की गई है। ऐसे जिले में कई मामले दर्ज किए जा चुके है। अब इन समस्याओं से जल्द छुटकारा मिलेगा और इन्हें कंप्यूटराइज्ड किया जा रहा है। जिसमें किसानों का डाटा और ऋण, वसूली करने का कार्य ऑनलाइन दिखेगा। आज तक ८२ समितियां कंप्यूटराइज्ड हो चुकी है। पांच समितियां शेष है, जिनमें कुछ समस्याएं उत्पन्न हो रही है। उन्हें भी जल्द ऑन लाइन किया जाएगा।
विभाग के कर्मचारियों ने बताया कि टीकमगढ़ जिले में ६४ और निवाड़ी जिले में २३ कृषि साख समितियां है। इन समितियों से ३५ हजार किसानों ने ऋण लिया है। पिछले वर्ष ७८ करोड रुपए और इस वर्ष खरीफ सीजन में २७ करोड को ऋण वितरण किया जा चुका है। किसानों पर $कुल वितरण २५० करोड रुपए समितियां ऑफ लाइन वितरण कर चुकी है। इन सभी मामलों का लेखा जोखा अभी तक समितियों में कैशबुक, खाता संधारण जैसे कार्य के लिए लेजर या रजिस्टर का उपयोग होता आ रहा था। लेकिन अब सभी कार्य कंप्यूटर पर होंगे। आज तक दोनों जिलों की ८२ समितियों को ऑनलाइन किया जा चुका है। शेष को पूरा कराने का कार्य किया जा रहा है।
ऑनलाइन दिखेगा किसानों का डाटा
कृषि साख सहकारी समितियों के अपग्रेड होने से किसानों के खातों की स्थिति और अन्य प्रकार का डाटा ऑनलाइन दिखेगा। इससे किसानों को गांव स्तर पर बैंक से जुड़ी डिजिटल सुविधाएं मुहैया होगी। सहकारी समितियों पर सभी प्रकार के बिल व्हाउचर ऑनलाइन प्रदर्शित होने से हेराफेरी किए जाने की संभावना खत्म ही जाएगी। जिला सहकामी बैंक द्वारा गांवों में किसानों की सुविधा के लिए कॉमन सर्विस सेंटर भी संभालित किए जाने की कार्य योजना हैं। इससे किसान स्थानीय स्तर पर ही अपने जिला सहकारी बैंक में जाति मूल निवासी प्रमाण पत्र, ई-केवायसी खसरा खतौनी, फ सल बीमा के आलावा अन्य प्रकार के कर सकेंगे। आर्थिक गड़बडियों पर भी अंकुश लगेगा।
अब किसान समस्याओं का नहीं करेंगे सामना
किसान खाद-बीज के अलावा कृषि उपकरणों के लिए ऋ ण लेने, ऋ ण राशि जमा करने, अपनी ऋ ण पुरितका का विवरण जानने के लिए कार्यालय के चक्कर नहीं लगाने पडेंगे। घर बैठे ही अपडेट लेने के अलावा ऋ ण के लिए आवेदन और लिए गए ऋण की किश्ते जमा कर सकेंगे। इसके साथ ही फसल संबंधी कार्यों का लाभ भी ले सकेंगे।
यह आएगी समस्याएं
इस व्यवस्था के सुधार के लिए एक कंप्यूटर सिस्टम रखा गया है। लेकिन उसके लिए ऑपरेटर, नेट कनेक्शन और बिजली कनेक्शन की व्यवस्था नहीं है। इसके साथ ही कई स्थानों पर समिति का भवन नहीं है।
फैक्ट फाइल
८७ कुल कृषि साख सहकारी समितियां
८२ कृषि साख सहकारी समितियां कंप्यूटराइज्ड समितियां
०५ कृषि साख सहकारी समितियां कंप्यूटराइज्ड के लिए बाकी
६४ टीकमगढ़ जिले में कृषि साख सहकारी समिति
२३ निवाड़ी जिले में कृषि साख सहकारी समिति
३५०० ऋणी किसान
७८ करोड पिछले वर्ष वितरण ऋण
२७ करोड इस वर्ष वितरण ऋण
२५० करोड कुल ऋण

Hindi News/ News Bulletin / कृषि साख सहकारी समितियों में होने वाली अनियमितताओं पर लगेगी लगाम

ट्रेंडिंग वीडियो